अहमदाबाद, जेएनएन। गुजरात सरकार ने लॉकडाउन के दौरान सभी तरह की दुकानें खोलने की मंजूरी देने के एक दिन बाद चार महानगरों में वापस ले ली है। बाजारों में अचानक उमड़ी लोगों की भीड़ देखते हुए राज्य सरकार ने यह फैसला किया है। महाराष्ट्र के बाद गुजरात सबसे ज्यादा कोरोना वायरस से प्रभावित है।

गुजरात के मुख्य सचिव अश्विनी कुमार ने रविवार को बताया कि राज्य के चार महानगर अहमदाबाद, राजकोट, सूरत और वडोदरा में दुकानें खोलने की मंजूरी नहीं है। चारों महानगरों के मनपा आयुक्त और जिला क्लेक्टर के साथ संयुक्त बैठक कर आगामी तीन मई तक दुकानें व व्यवसायों को बंद करने का फैसला किया गया है। पहले की तरह केवल दवा, दूध, सब्जी सहित जरूरी वस्तुओं की दुकानें ही चालू रहेंगी। अश्विनी कुमार ने कहा कि व्यापारियों ने भी सरकार के इन निर्णय का स्वागत किया है। उन्होंने भी तीन मई तक अपना व्यवसाय नहीं शुरू करने का प्रस्ताव रखा था।

अहमदाबाद महानगर पालिका के आयुक्त विजय नेहरा ने रविवार को बताया कि अहमदाबाद में दवा, दूध और सब्जी व आश्वयक सेवाओं से संबंधित दुकानें ही खुली रहेंगी। अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठान तीन मई तक लॉकडाउन समाप्त होने के बाद ही खुलेंगे। विजय नेहरा ने बताया कि व्यापारी एसोसिएशन ने उनके सामने तीन मई तक दुकानें नहीं खोलने का प्रस्ताव रखा। व्यापारियों के साथ विचार-विमर्श करने के बाद दुकानें तीन मई तक बंद करने का फैसला किया गया है। विजय नेहरा ने बताया कि अहमदाबाद में जिस तरह से कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं, उसे देखते हुए व्यापारियों का जनता के हित में यह सराहनीय फैसला है।

विजय नेहरा ने कहा कि 18 अप्रैल को शहर में 243 मामले थे, उसके बाद 234, 257, 228 की वृद्धि हुई। कुछ दिनों पहले कोरोना वायरस के चार दिन में डबल केस होते थे, लेकिन हम सबके प्रयास से यह आंकड़ा अब आठ दिन में डबल हो रहा है। इसके साथ ही मरीजों की रिकवरी दर भी चार फीसद से बढ़कर 10 फीसद से ज्यादा हो गई है। जबकि एक समय रिकवरी और मृत्यु दर एक समान थी, लेकिन अब कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों के ठीक होने की संख्या दोगुनी हो गई है। विजय नेहरा ने कहा कि रविवार को कोरोना संक्रमित 49 लोग ठीक हुए हैं। इन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है।

उन्होंने कहा कि नरोदा क्षेत्र में एक निजी अस्पताल का निर्माण किया जा रहा था। इस निर्माणधीन अस्पताल शुरू नहीं होने से इसे कोविड-19 अस्पताल के तौर पर उपयोग किया जाएगा। यहां 200 बेड की कोविड-19 अस्पताल तैयार किया गया है। राज्य सरकार के पास से मेडिकल और पैरामेडिकल स्टाफ की मांग की गई है।

गौरतलब कि गुजरात में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या तीन हजार के पार पहुंच गई है। वहीं, अहमदाबाद में इसकी संख्या सबसे अधिक है। यहां कोरोना वायरस के अभी तक 2003 मामले दर्ज हुए हैं और मरने वालों की संख्या 86 हो गई है।

गुजरात की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस