अहमदाबाद, जेएनएन। सरदार सरोवर नर्मदा बांध का जलस्तर 134 मीटर की ऊंचाई को पार कर गया है। बांध के पानी का जलस्तर पहली बार इस लेवल तक पहुंचा है। इधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को ट्वीट कर बांध का फोटो शेयर करते हुए खुशी जताई है।

उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने बताया कि मध्य प्रदेश में अच्छी बारिश के चलते इस साल सरदार सरोवर बांध में पानी की अच्छी आवक रही, जिससे बांध का जलस्तर पहली बार 134 मीटर को पार कर गया। बांध में दो लाख 83 हजार 431 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी का संग्रह है, जो इसकी भराव क्षमता का 85 फीसद है। गत वर्ष यह बांध 51 फीसद ही भर पाया था। विशेषज्ञों की मानें तो सरदार सरोवर बांध में संग्रहित जल गुजरात के पानी की जरूरत को दो साल तक पूरा कर सकता है। गत वर्ष कम पानी होने से मई-जून में गुजरात में भीषण पेयजल संकट उत्पन्न हो गया था।

उपमुख्यमंत्री ने बताया कि नर्मदा बांध का पानी सौनी योजना व सुजलाम सुफलाम नहर के जरिए सौराष्ट्र व कच्छ के कई बांध सहित नदी, बांध व तालाबों में भरा जाता है। मानसून के दौरान ही राज्या के 500 से अधिक तालाबों तक नर्मदा का पानी पहुंचाया गया था। पटेल ने बताया कि राज्यद के 32 बांध सौ फीसद भर गए हैं, जबकि 57 बांध में 100 से 70 फीसद, 22 बांध में 50 से 70 तथा 35 बांधों में 50 फीसद तक पानी जमा हो गया है। राज्यों के 58 बांध अभी भी ऐसे हैं, जिनमें 25 प्रतिशत ही जल का संग्रह हो पाया है।

सरदार सरोवर बांध व नर्मदा नहर परियोजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वप्लिन प्रोजेक्ट हैं। गुजरात के मुख्यरमंत्री रहते बांध की ऊंचाई बढ़ाने को लेकर मोदी 2005 में 51 घंटे तक उपवास पर भी बैठ गए थे। प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी ने चंद दिनों में ही बांध पर 16-16 मीटर के दरवाजे लगाने की मंजूरी दिला दी थी, जिससे अब बांध को उच्चतम स्तर 138,5 मीटर तक भरा जा सकता है।  

यह भी पढ़ेंः गुजरात में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021