अहमदाबाद, जागरण संवाददाता। लॉकडाउन 0.4 से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्‍मनिर्भर बनने की अपील को ध्‍यान में रखते हुए गुजरात सरकार ने लघु उद्योग, व्‍यापार, दुकान व छोटा-मोटा धंधा कर गुजारा करने वाले लोगों को बिना गारंटी एक-एक लाख रुपये का लोन देने की घोषणा की है।

मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी ने गुरुवार को फेसबुक लाइव के जरिए एलान किया कि राज्‍य के करीब दस लाख लोगों को आर्थिक संकट से उबारने तथा उनके धंधा व कारोबार को फिर से शुरू करने में मदद करने के लिए सरकार आत्‍मनिर्भर गुजरात सहायता योजना लाई है। रूपाणी ने कहा कि सरकार राज्‍य की सहकारी बैकों, जिला बैंकों की ढाई हजार से अधिक शाखाओं व क्रेडिट सोसायटियों के जरिए लघु उद्योग, व्‍यापार, दुकान, छोटा-मोटा धंधा कर गुजारा करने वाले, इलेक्ट्रिशियन, कारीगर, श्रमिकों को तीन साल के लिए एक लाख रुपये तक का लोन दो फीसद के ब्‍याज पर दिया जाएगा।

लोन लेने के बाद छह माह तक कोई ब्‍याज व ईएमआई भरने से छूट रहेगी। महज एक अर्जी करके यह लोन लिया जा सकेगा, इसका कोई शुल्‍क नहीं होगा। इस योजना के तहत सरकार करीब 5 हजार करोड़ के ऋण बांटेगी। रूपाणी ने कहा कि कुछ राज्‍य सरकारें अपने यहां लघु कारोबारियों को 5-5 हजार रुपये की मदद कर रही हैं, लेकिन इससे उनके आर्थिक नुकसान की भरपाई नहीं होगी। साथ ही, उनका व्‍यापार भी फिर से चल नहीं सकता।

गौरतलब है कि गुजरात में कोरोना संक्रमण के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। विशेष कर अहमदाबाद शहर में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही है। बुधवार को गुजरात में कोरोना के 364 नए मामले सामने आए हैं और 29 लोगों की मौत हुई है। अकेले अहमदाबाद के 292 मामले और 25 मौत हुई है। गुजरात राज्य की मुख्य स्वास्थ्य सचिव जयंती रवि ने को बताया कि गुजरात में कोरोना संक्रमितों की संख्या 9268 पहुंच गई है। इस बीमारी से अभी तक 566 लोगों की मौत हो गई है। हालांकि पिछले चार-पांच दिनों राज्य में कोरोना संक्रमण से ठीक होने लोगों की संख्या बढ़ी है। राज्य में अभी तक कुल 3562 लोग ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हुए हैं।

 

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस