अहमदाबाद, जेएनएन। दलित समुदाय गुजरात में भगवान जगन्नाथ की तर्ज पर डॉ भीमराव अंबेडकर जयंती पर शनिवार को भीम रथयात्रा निकालेगा जिसमें हाथी, घोडा, ऊंट, बैंड, डीजे, 100 बुलेट मोटरसाइकिल, 500 भीम सैनिक, सैकड़ों कारें व हजारों समर्थक शामिल होंगे। रथयात्रा 8 घंटे में 12 किलोमीटर का सफर तय कर सारंगपुर अंबेडकर प्रतिमा पर पूरी होगी।

डॉ अंबेडकर गौरव नगर यात्रा की ओर से आयोजित भीम यात्रा भगवान बुद्ध व डॉ भीमराव अंबेडकर के आदर्श विचारों के प्रचार प्रसार के लिए निकाली जाएगी, जिसमें धार्मिक शोभायात्रा जैसी भव्यता होगी। डॉ अंबेडकर की 127वीं जयंती पर गुजरात के दलित समुदाय की ओर से अनूठा आयोजन किया जाएगा।

गत 2 अप्रैल को एट्रोसिटी एक्ट के मुद्दे पर दलित समुदाय के भारत बंद के बाद इस रथयात्रा को लेकर प्रशासन व पुलिस काफी सतर्क है। भीमयात्रा सुबह आठ बजे जनता नगर अमराईवाडी से शुरू होकर 12 किलोमीटर रूट पर विविध मार्ग से होते हुए शाम 4 बजे सारंगपुर डॉ अंबेडकर की प्रतिमा पर पहुंचेगी।

रथयात्रा समिति के प्रवक्ता विजय झाला ने बताया कि विविध समुदायों को परस्पर करीब लाने के लिए इस यात्रा का आयोजन किया गया है। यात्रा को केवल 5 स्थलों पर ही रोका जाएगा, जबकि दो दर्जन से अधिक स्थलों पर डॉ अंबेडकर का सम्मान होगा। यात्रा एक हजार कार्यकर्ताओं के साथ शुरू होगी, जिसके अंत में 30 हजार के जुड़ने की संभावना है।  

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस