अहमदाबाद, एएनआइ। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी 10 मई को गुजरात दौरे पर रहेंगे। राहुल गांधी गुजरात के दाहोद में कांग्रेस के आदिवासी सत्याग्रह रैली करेंगे। बुधवार को यह जानकारी कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल ने दी। राहुल गांधी 10 मई को गुजरात के दाहोद में आदिवासी सत्याग्रह रैली को संबोधित करेंगे। विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस की नवजीवन कालेज के मैदान में यह पहली बड़ी रैली होगी। आदिवासी वोट बैंक पर पकड़ मजबूत करने के लिए कांग्रेस इस रैली का आयोजन कर रही है। गौरतलब है कि इस साल के अंत में गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा, आप और कांग्रेस सहित सभी सियासी दल अभी से सक्रिय हो गए हैं। 

राहुल के गुजरात दौरे से पहले कांग्रेस विधायक कोटवाल का इस्तीफा, भाजपा में शामिल
गुजरात के आदिवासी समुदाय के दिग्गज नेता व कांग्रेस विधायक अश्विन कोटवाल ने पार्टी से मंगलवार को इस्तीफा दे दिया। विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने के बाद उन्होंने भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 2007 से उनके दिल में बसते हैं। गांधीनगर स्थित भाजपा मुख्यालय पर पार्टी अध्यक्ष सीआर पाटिल ने कोटवाल को केसरिया टोपी पहनाकर भाजपा में शामिल किया। वह अपने दो हजार समर्थकों के साथ भाजपा कार्यालय पहुंचे थे। तीन बार विधायक चुने गए कोटवाल ने कांग्रेस छोड़ने के साथ ही पार्टी की व्यवस्थाओं पर सवाल उठाए और पीएम मोदी की तारीफ की। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का काम करते समय मोदी ने उमरगाम से अंबाजी तक के आदिवासियों के हर झोपड़ी में घूमकर उनकी समस्याओं को करीब से देखा है। मोदी जनसेवा के प्रति समर्पित होकर काम कर रहे हैं। ऐसा विकास पुरुष धरती पर दूसरा नहीं मिलेगा। 

विधानसभा चुनाव से पहले हार्दिक पटेल ने अपने ट्विटर बायो से 'कांग्रेस' हटाया
पार्टी से नाराज चल रहे गुजरात कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने अपने ट्विटर बायो से कांग्रेस का चुनाव चिन्ह और अपना कार्यकारी अध्यक्ष का पदनाम हटा दिया है। ट्विटर पर अपलोड अपने नए प्रोफाइल में हार्दिक ने खुद को देशभक्त, बेहतर भारत के लिए समर्पित सामाजिक राजनीतिक कार्यकर्ता बताया है। इस बीच, कांग्रेस विधायकों का एक समूह भी पार्टी से नाराज है। उत्तर गुजरात के तीन विधायकों के भाजपा में जाने की अटकलें तेज हो गई हैं। पाटीदार नेता हार्दिक पटेल बीते कुछ समय से कांग्रेस के प्रदेश नेताओं से नाराजगी की बात खुलकर रख रहे हैं। वह पार्टी आलाकमान को अपनी शिकायतों से अवगत भी करा चुके हैं, लेकिन उन पर ध्यान नहीं दिया गया। हार्दिक ने अब अपने ट्विटर बायो से कांग्रेस का चुनाव चिन्ह और कार्यकारी अध्यक्ष का पदनाम हटा दिया है। इससे हार्दिक के कांग्रेस छोड़ने की अटकलें तेज होने लगी हैं। उनके समक्ष भाजपा व आम आदमी पार्टी में जाने का विकल्प है, लेकिन प्रदेश भाजपा ने हार्दिक को लेकर कोई उत्सुकता नहीं दिखाई, जबकि आप उनके स्वागत को तैयार है। गुजरात कांग्रेस में अध्यक्ष पद पर जगदीश ठाकोर व नेता विपक्ष पद पर सुखराम राठवा की नियुक्ति के बाद से कई वरिष्ठ विधायकों में भी नाराजगी उभरी है। उत्तर गुजरात के दो विधायक चंदनजी ठाकोर, किरीट पटेल समेत सौराष्ट्र के भी कुछ विधायकों के पार्टी से नाराज होने की खबर है।

नरेश पटेल से मिले भाजपा विधायक

भाजपा के चार विधायक शशिकांत पांड्या, अरविंद पटेल, जगदीश पटेल व वल्लभ काकडिया ने खोडलधाम पहुंचकर पाटीदार नेता व खोडलधाम ट्रस्ट के मुखिया नरेश पटेल से सोमवार को मुलाकात की। दोनों पक्षों ने इसे सामान्य भेंट बताया है, लेकिन इसके कुछ और ही मतलब निकाले जा रहे हैं। नरेश पटेल कुछ समय से सक्रिय राजनीति में आने के इच्छुक हैं।

Edited By: Sachin Kumar Mishra