अहमदाबाद, शत्रुघ्न शर्मा। गुजरात में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में भारी उलटफेर के संकेत नजर आ रहे हैं। पार्टी के दिग्गज नेता भावी रणनीति पर चर्चा करने को गांधीनगर में एकत्र हुए तथा अध्यक्ष एवं नेता विपक्ष पद के लिए लॉबिंग करने में जुटे हैं। गुजरात विधानसभा में नेता विपक्ष परेश धनाणी के सरकारी आवास पर कांग्रेस के कई दिग्गज नेता एकत्र हुए तथा पार्टी में आगामी दिनों में होने वाले परिवर्तन के मुद्दे पर चर्चा की। कांग्रेस आलाकमान जल्द ही गुजरात कांग्रेस के नए प्रभारी तथा प्रदेश अध्यक्ष के नाम की घोषणा करेगा। इससे पहले वरिष्ठ नेता भरत सिंह सोलंकी, नेता विपक्ष परेश धनाणी, पूर्व अध्यक्ष अर्जुन मोढवाडिया, पूर्व अध्यक्ष सिद्धार्थ पटेल, पूर्व सांसद जगदीश ठाकोर, विधायक वीरजी ठुमर आदि नेता पार्टी में लॉबिंग करने में जुटे हैं।

इस बैठक में कांग्रेस ने महंगाई, स्कूल फीस तथा कोरोना महामारी को लेकर सरकार के खिलाफ आंदोलन का भी एलान किया। कांग्रेस नेता कोरोना मारे गए लोगों के घर-घर जाकर परिजनों से मिल उनको सांत्वना देगी। कोरोना के बहाने कांग्रेस राज्य के लोगों में अपने प्रति विश्वास बढ़ाने का प्रयास करेगी। वहीं, महिला कांग्रेस महंगाई के खिलाफ आंदोलन छेड़ कर महिलाओं में पैठ बनाने की कोशिश करेगी। कोरोना काल में स्कूलों की फीस बड़ा मुद्दा बन गई है। एनएसयूआइ निजी स्कूलों की मनमानी फीस पर अंकुश लगाने के लिए आंदोलन करेगी। कांग्रेस अपने इस राज्यव्यापी आंदोलन के जरिए प्रदेश के लोगों में पार्टी की पैठ बढ़ाने का प्रयास करेगी लेकिन इससे पहले पार्टी खुद संगठनात्मक विसंगतताओं से जूझ रही है।

गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष, पार्टी प्रभारी तथा नेता विपक्ष की नियुक्ति अभी टेढ़ी खीर बनी हुई है। चर्चा है कि प्रभारी व प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति 27 जून से पहले कर दी जाएगी। वरिष्ठ नेता अहमद पटेल के निधन से खाली हुई जगह को पार्टी किसी दिग्गज नेता से भरना चाहती है। भरत सोलंकी पार्टी में पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला की वापसी चाहते हैं। वाघेला इस माह कभी भी कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। हालांकि राजनीति के जानकार बताते हैं कि पार्टी को इससे कोई खास फायदा होने वाला नहीं है। वाघेला अब तक कई पार्टियां बदल चुके हैं, जिससे उनके वोट बैंक में सेंध लग चुकी है लेकिन राजनीति में उनके अनुभव का लाभ पार्टी को हो सकता है। उल्लेखनीय है कि बीते कुछ माह में भरत सिंह सोलंकी तथा वाघेला की कई मुलाकातें हो चुकी है। गुरुवार को भी इन दोनों नेताओं में गुफ्तगू हुई। 

Edited By: Sachin Kumar Mishra