केवड़िया, एएनआइ। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गुजरात दौरे का दूसरा और आखिरी दिन है। पीएम मोदी ने आज गुजरात के केवड़िया में सी-प्लेन सेवा का उद्घाटन किया। इससे पहले प्रधानमंत्री ने एकता दिवस परेड में हिस्सा लिया।पीएम मोदी ने इसके साथ ही सिविल सर्विसेज प्रोबेशनर्स को वर्चुअली संबोधित किया।

देश भर में सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती मनाई जा रही है। इस दिन को पूरे देश में राष्ट्रीय एकता दिवस (राष्ट्रीय एकता दिवस) के रूप में भी मनाया जाता है। इस मौके पर पीएम मोदी ने स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पर सरदार वल्लभ भाई पटेल को श्रद्धांजलि दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरदार पटेल की 145वीं जयंती पर एक बार फिर सर्वहित देशहित का संदेश देते हुए आतंकवाद व नकारात्मक राजनीति पर बरसे।

PM Modi in Gujarat LIVE Updates:

साबरमती रिवरफ्रंट पहुंचे पीएम मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी केवड़िया से सीप्लेन फ्लाइट से साबरमती रिवरफ्रंट पहुंचे। गुजरात के पहले सी प्‍लेन से उन्होंने अपनी यात्रा पूरी की। पीएम नरेंद्र मोदी ने केवड़िया से साबरमती तक सी-प्लेन में उड़ान भरी।

देश की सी-प्लेन सेवा का उद्घाटन

पीएम मोदी ने आज गुजरात के केवड़िया से सी-प्लेन सेवा का उद्घाटन किया। इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने केवड़िया से साबरमती तक सी-प्लेन में उड़ान भरी। वह फिलहाल सी-प्लेन में सफर कर रहे हैं। वह थोड़ी देर में साबरमती रिवरफ्रंट पर पहुंचेंगे। बता दें कि ये सी- फ्लाइट अहमदाबाद में साबरमती रिवरफ्रंट को केवड़िया, नर्मदा डिस्ट्रिक में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से जोड़ती है। इस प्रकार के विमान छोटे जल निकायों व छोटी हवाईपट्टी से उड़ान भरने व लैडिंग में सक्षम होते हैं। सी-प्लेन की उड़ानें स्पाइसजेट संचालित कर रही है। इसके तहत सी-प्लेन रोजाना दो उड़ान भरेगा।

सिविल सर्विसेज प्रोबेशनर्स को संबोधन

पीएम मोदी ने इससे पहले आज सिविल सर्विसेज प्रोबेशनर्स को संबोधित किया। गुजरात दौरे पर केवड़िया में आज सिविल सर्विसेज प्रोबेशनर्स को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अफसरों को सरदार साहब की सलाह थी कि देश के नागरिकों की सेवा अब आपका सर्वोच्च कर्तव्य है। मेरा भी यही आग्रह है कि सिविल सर्वेंट जो भी निर्णय ले, वो राष्ट्रीय संदर्भ में हों, देश की एकता अखंडता को मजबूत करने वाले हों।

आपके पास एक बड़ी जिम्मेदारी- मोदी

पीएम मोदी ने आज सिविल सर्विसेज प्रोबेशनर्स को संबोधित किया। पीएम मोदी ने सिविल सर्विसेज प्रोबेशनर्स के साथ वर्चुअल बातचीत के दौरान कहा कि आप ऐसे अधिकारी हैं जो आजादी के 100 साल पूरे होने पर देश की सेवा करेंगे। 2022 से आगे 25 साल देश के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। आपके पास एक बड़ी जिम्मेदारी है।

स्टील फ्रेम के काम का महत्व समझें

आपका क्षेत्र भले ही छोटा हो, आप जिस विभाग को संभाले उसका दायरा भले ही कम हो। लेकिन फैसलों में हमेशा लोगों का हित होना चाहिए, एक national perspective होना चाहिए। पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि स्टील फ्रेम का काम सिर्फ आधार देना, सिर्फ चली आ रही व्यवस्थाओं को संभालना ही नहीं होता। स्टील फ्रेम का काम देश को ये ऐहसास दिलाना भी होता है कि बड़े से बड़ा संकट हो या फिर बड़े से बड़ा बदलाव, आप एक ताकत बनकर देश को आगे बढ़ाने में सहयोग करेंगे, facilitate करेंगे।

देश में नए परिवर्तन का जरूरी पहलू है ट्रेनिंग

पीएम ने कहा कि देश में नए परिवर्तन के लिए, नए लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए, नए मार्ग और नए तौर-तरीके अपनाने के लिए बहुत बड़ी भूमिका ट्रेनिंग की होती है, Skill-Set के Development की होती है। उन्होंने कहा कि पहले के समय Training में आधुनिक अप्रोच कैसे आए, इस बारे में बहुत सोचा नहीं गया। लेकिन अब देश में Human Resource की आधुनिक Training पर जोर दिया जा रहा है। आपने खुद भी देखा है कि कैसे बीते 2-3 वर्षों में ही सिविल सर्वेन्ट्स की ट्रेनिंग का स्वरूप बहुत बदल गया है।

'जनता जनार्दन ही असली ड्राइविंग फोर्स'

पीएम मोदी ने कहा कि ये ‘आरंभ’ सिर्फ आरंभ नहीं है, एक प्रतीक भी है और एक नई परंपरा भी। ऐसे ही सरकार ने कुछ दिन पहले एक और अभियान शुरू किया है- मिशन कर्मयोगी। उन्होंने कहा कि सरकार शीर्ष से नहीं चलती है। नीतियां जिस जनता के लिए हैं, उनका समावेश बहुत जरूरी है।जनता केवल सरकार की नीतियों की, प्रोग्राम्स की receiver नहीं है, जनता जनार्दन ही असली ड्राइविंग फोर्स है।

उन्होंने कहा कि आज देश जिस mode में काम कर रहा है, उसमें आप सभी bureaucrats की भूमिका Minimum Government, Maximum Governance की ही है। आपको ये सुनिश्चित करना है कि नागरिकों के जीवन में आपका दखल कैसे कम हो, सामान्य मानवी का सशक्तिकरण कैसे हो इसलिए हमें government से governance की तरफ बढ़ने की जरूरत है।

'हमें सरकार से शासन की ओर बढ़ने की जरूरत'

पीएम मोदी ने सिविल सर्विसेज प्रोबेशनर्स को संबोधित करते हुए कहा कि जनता न केवल सरकारी नीतियों, कार्यक्रमों की लाभार्थी है, बल्कि असली प्रेरक शक्ति है। इसलिए हमें सरकार से शासन की ओर बढ़ने की जरूरत है।

पाकिस्तान का नाम लिए बिना बोला हमला

पीएम मोदी ने इससे पहले स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से एकता दिवस परेड के बाद दिए अपने संबोधन में कहा कि पिछले दिनों पड़ोसी देश से जो खबरें आईं हैं, जिस प्रकार वहां की संसद में सत्य स्वीकारा गया है। उसने इन लोगों के असली चेहरों को देश के सामने ला दिया है। अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए, ये लोग किस हद तक जा सकते हैं। पुलवामा हमले के बाद की गई राजनीति, इसका बड़ा उदाहरण है।

पुलवामा हमले को किया याद

इस दौरान पीएम मोदी ने पुलवामा हमले को भी याद किया। उन्होंने कहा कि देश यह कभी नहीं भूल सकता कि पुलवामा हमले के दौरान कुछ लोग सुरक्षाकर्मियों के बलिदान पर दुखी नहीं थे। उस समय, ये लोग केवल राजनीति कर रहे थे। मैं उनसे राष्ट्र के हित में ऐसी राजनीति नहीं करने का अनुरोध करता हूं।

पीएम मोदी ने पुलवामा हमले के बाद की गई राजनीति पर कहा कि ऐसे राजनीतिक दलों से आग्रह करूंगा कि देश की सुरक्षा के हित में, हमारे सुरक्षाबलों के मनोबल के लिए, कृपा करके ऐसी राजनीति न करें, ऐसी चीजों से बचें।अपने स्वार्थ के लिए, जाने-अनजाने आप देशविरोधी ताकतों की हाथों में खेलकर, न आप देश का हित कर पाएंगे और न ही अपने दल का।

'भारत ने हमेशा आतंकवाद को दिया करारा जवाब'

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि आज दुनिया के सभी देशों को आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होने की जरूरत है। आतंकवाद और हिंसा से किसी को फायदा नहीं हो सकता। भारत ने हमेशा आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ी है। उन्होंने कहा कि भारत ने आतंकवाद को हमेशा एकजुट होकर करारा जवाब दिया है।

'विकास की नई राह पर कश्मीर'

पीएम मोदी मोदी ने कश्मीर से धारा 370 हटाने को याद करते हुए कहा कि कश्मीर विकास की राह पर है। अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो रहा है। मोदी ने सरदार पटेल को याद करते हुए कहा कि सरदार होते तो धारा 370 पहले ही खत्म हो गई होती।

पीएम मोदी ने कहा कि आज कश्मीर विकास की नई राह पर चल पड़ा है, चाहे वह पूर्वोत्तर में शांति की बहाली हो, या वहां के विकास के लिए उठाए जा रहे कदम, आज देश एकता के नए आयाम स्थापित कर रहा है।

वाल्मीकि जयंती की शुभकामनाएं दीं

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि ये भी अद्भुत संयोग है कि आज ही वाल्मीकि जयंती भी है। आज हम भारत की जिस सांस्कृतिक एकता का दर्शन करते हैं। जिस भारत को अनुभव करते हैं। उसे और जीवंत और ऊर्जावान बनाने का काम सदियों पहले आदिकवि महर्षि वाल्मीकि ने ही किया था।

'कोरोना पर देश ने दिखाई हिम्मत'

एकता दिवस पर बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना महामारी का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस ने जहां बड़े देशों को मजबूर किया, तो वहीं भारत ने इस महामारी का मजबूती से सामना किया। पीएम मोदी ने कहा कि 130 करोड़ भारतीयों ने मिलकर इस महामारी के खिलाफ अपनी लड़ाई में COVID19 योद्धाओं को सम्मानित किया। जिस तरह से देश ने इस दौरान अपनी सामूहिक क्षमता साबित की है वह अभूतपूर्व है।

'रक्षा क्षेत्र में भारत आत्मनिर्भर बन रहा'

पीएम मोदी ने कहा कि रक्षा क्षेत्र में भारत आत्मनिर्भर बन रहा है सीमा पर हमारे जवान अधिक मजबूती के साथ दुश्मन को जवाब दे रहे हैं। भारत के प्रति अब अन्य देशों का नजरिया बदल गया है। 

पीएम मोदी का संबोधन शुरू

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज गुजरात में स्टैचू ऑफ यूनिटी से अपने संबोधन में कहा कि आज साबरमती रिवरफ्रंट से केवड़िया तक सी-प्लेन सेवा की शुरुआत की जाएगी। इससे इस क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी।

एकता दिवस परेड में जवानों का शौर्य

सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती मनाने के लिए गुजरात में केवडिया में चल रहे 'राष्ट्रीय एकता दिवस' परेड में प्रधानमंत्री शामिल हुए। इस दौरान कई जवानों की परेड हुई। एकता दिवस परेड में जवानों ने अपनी शौर्यता का प्रदर्शन किया।

पीएम मोदी ने ली परेड की सलामी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर 'राष्ट्रीय एकता दिवस' की परेड में शामिल हुए हैं। इस दौरान उन्होंने परेड की सलामी ली।

एकता दिवस परेड में शामिल हुए प्रधानमंत्री

सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज राष्ट्रीय एकता दिवस परेड में शामिल हुए। इस दौरान पीएम मोदी ने जवानों को शपथ दिलाई।

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पहुंचे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी। पीएम मोदी ने स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पहुंचकर सरदार पटेल की जयंती पर उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की ।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर दी श्रद्धांजलि

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने सरदार पटेल की जयंती पर उन्हें ट्वीट कर श्रद्धांजलि दी। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि राष्ट्रीय एकता और अखंडता के अग्रदूत लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल को उनकी जन्म-जयंती पर विनम्र श्रद्धांजलि।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस