अहमदाबाद, प्रेट्र। गुजरात के अहमदाबाद शहर के बाहरी इलाके में एक कमरे में एलपीजी सिलेंडर से गैस के रिसाव से हुए विस्फोट और आग में गंभीर रूप से झुलसे चार बच्चों और पांच अन्य की मौत हो गई। एक अधिकारी ने शनिवार बताया कि यह घटना 20 जुलाई की रात की है। पिछले कुछ दिनों में आठ पीड़ितों व मजदूरों और उनके परिवार के सदस्यों की इलाज के दौरान मौत हो गई, जबकि एक ने शनिवार को दम तोड़ दिया। असलाली पुलिस स्टेशन के निरीक्षक पीआर जडेजा ने कहा कि वे सभी मध्य प्रदेश के थे। एलपीजी सिलेंडर से गैस के रिसाव से विस्फोट और आग लग गई थी, जिसमें बच्चों और महिलाओं सहित 10 लोग गंभीर रूप से झुलस गए थे। इस घटना ने अब तक उनमें से नौ लोगों की मौत हुई है। उनका सिविल अस्पताल में इलाज चल रहा था।

उन्होंने कहा कि गुरुवार को इलाज के दौरान तीन लोगों की मौत हो गई, पांच अन्य ने शुक्रवार को और एक ने शनिवार की सुबह दम तोड़ दिया। मजदूर और उनके परिवार के सदस्य छोटे से कमरे में सो रहे थे, तभी उनके सिलेंडर से गैस लीक होने लगी। एक अन्य पुलिस अधिकारी ने कहा कि जब उनके पड़ोसी ने उन्हें इस बारे में सचेत करने के लिए पहुंचा तो उनमें से एक मजदूर ने उठकर बत्ती बुझा दी, जिससे चिंगारी भड़क उठी और विस्फोट हो गया। उन्होंने कहा कि 10 घायलों में पड़ोसी भी शामिल है, जो उन्हें सतर्क करने आया था और उन सभी को इलाज के लिए सिविल अस्पताल ले जाया गया। मृतकों की पहचान रामप्यारी अहिरवार (56), राजूभाई अहिरवार (31), सोनू अहिरवार (21), सीमा अहिरवार (25), सरजू अहिरवार (22), वैशाली (7), नितेश (6), पायल (4) व आकाश (2) के रूप में हुई है। सभी मध्य प्रदेश के गुना जिले के मूल निवासी हैं। जडेजा ने कहा कि एक घायल व्यक्ति की पहचान कुल सिंह भैरवा (30) के रूप में हुई है, जिसका इलाज चल रहा है और उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है। उन्होंने कहा कि वह राजस्थान के करौली के कुडगांव का रहने वाला है। जडेजा ने कहा कि मृतकों के शवों को मध्य प्रदेश में उनके पैतृक गांव भेजा जा रहा है।

Edited By: Sachin Kumar Mishra