अहमदाबाद, जागरण संवाददाता। गांधीनगर महानगरपालिका के पांचवें महापौर होंगे हितेश मकवाणा। वार्ड नंबर 8 से भाजपा के टिकट पर चुनाव जीत कर महानगर पालिका में पहुंचे हैं मकवाणा। भारतीय जनता पार्टी के वार्ड नंबर 8 से पार्षद हितेश मकवाणा को पार्षदों ने अपना नेता चुना है। अक्टूबर के पहले सप्ताह में हुए चुनावों में भाजपा ने रिकॉर्ड 41 सीटों पर जीत दर्ज की थी। 44 सीट में से कांग्रेस को दो जबकि आम आदमी पार्टी को महज एक सीट हासिल हुई थी।

गांधीनगर महानगर पालिका में भारतीय जनता पार्टी को पहली बार बहुमत मिला है। रिकॉर्ड जीत के बाद भारतीय जनता पार्टी को अपने महापौर पद के प्रत्याशी का नाम घोषित करना था। गुरुवार को गांधीनगर में भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर चुने गए 41 पार्षदों की बैठक हुई बैठक में सर्वसम्मति से हितेश मकवाणा को महापौर पद का उम्मीदवार चुना गया। भारतीय जनता पार्टी के पर्यवेक्षकों की मौजूदगी में यह बैठक हुई पिछले कुछ दिनों से पार्टी में गांधीनगर का महापौर चुनु जाने का मंथन चल रहा था।

भारतीय जनता पार्टी गांधीनगर महानगर पालिका में पहले भी अपना महापौर बना चुकी है लेकिन उसे दल बदल कर आने वाले पार्षदों के दबाव में रहना पड़ता था। कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए एक पार्षद को पिछली बार महापौर भी बनाना पड़ा था। 44 में से रिकॉर्ड 41 सीट जीतकर भाजपा ने गांधीनगर में पहली बार भारी बहुमत हासिल किया। हालांकि कांग्रेस के विधायक सीजे चावड़ा व अन्य कई नेता इस चुनाव परिणाम पर उंगली उठा चुके हैं। चावड़ा ने तो चुनाव परिणाम को ईवीएम के कारण आया परिणाम बताते हुए दोबारा मतपत्रों से चुनाव कराने की भी मांग कर डाली है।

आगामी विधानसभा चुनाव से पहले हुए गांधीनगर महानगर पालिका के चुनाव से भाजपा को नैतिक बल मिला है। गुजरात में मुख्यमंत्री सहित समूचे मंत्रिमंडल को बदले जाने के बाद यह पहला चुनाव था। मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल एवं भाजपा के अध्यक्ष सीआर पाटील के नेतृत्व में आए इस चुनाव परिणाम को भाजपा अपने लिए एक नये तरह का जनादेश मान रही है। सीआर पाटील के नेतृत्व में भाजपा साल के शुरुआत में भी स्थानीय निकाय पंचायत पालिका चुनाव में शानदार प्रदर्शन कर चुकी है। इन चुनाव परिणामों के दम पर ही भाजपा अध्यक्ष विधानसभा की सभी 182 सीट जीतने का भी लक्ष्य अपने कार्यकर्ताओं के समक्ष रख चुके हैं।

Edited By: Babita Kashyap