अहमदाबाद, जेएनएन। गुजरात में बारिश का दौर जारी है। सूरत जिले के उपरपाड़ा में सोमवार की रात से मंगलवार दोपहर तक 16 इंच बारिश होने से आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। वहीं, अहमदाबाद, वड़ोदरा, भरुच आणंद में चार से पांच इंच बारिश होने से पूरा शहर तालाब में तब्दील हो गया है। बारिश के कारण रोड-रेल व हवाई यतायात प्रभावित हुआ है। मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में भारी बारिश की चेतावनी दी है।

गुजरात में इस वर्ष 110 प्रतिशत से अधिक बारिश हो गई है। मंगलवार को सूरत, अहमदाबाद, वड़ोदरा, भरुच , आणंद, छोटाउदयपुर वहीं सौराष्ट्र के अरवल्ली, साबरकांठा , जूनागढ़ , गिर सोमनाथ सहित के शहरों में भारी बारिश होने से बाढ़ के हालात पैदा हो गए हैं। अहमदाबाद और वडोदरा में एका-एक बिजली की कड़ाके के साथ दो घंटे में चार इंच बारिश होने से पूरा शहर तालाब में तब्दील हो गया है। तमाम अंडर पास बंद कर दिए गए हैं। वडोदरा के बीचों बीच से गुजरती विश्वामित्री नदी का जल स्तर बढ़ने से एक फिर लोगों को मगरमच्छ का डर सता है। अहमदाबाद की साबरमती नदी का जल स्तर बढ़ने से धोलका, बावला, साणंद सहित के गांवों को अलर्ट कर दिया गया है।

अहमदाबाद महानगर पालिका आयुक्त विजय नेहरा ने ट्वीट कर लोगों से बिना वजह घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की है। दक्षिण गुजरात के सूरत, वापी, उमरपाड़ा, चोयार्सी, नवसारी, गणदेवी में भारी बारिश होने से एनडीआरएफ व स्थानीय प्रशासन की टीम हाईअलर्ट पर है। यहां उकाई डेम ओवर फ्लो होने से उसके पांच दरवाजे खोले गए हैं। जिसके कारण तापी नदी उफान पर है। प्रशासन ने निचले वाले विस्तारों को खाली कर दिया है। बारिश के कारण वलसाड़-नवसारी हाइवे बंद कर दिया गया है। मुंबई की ओर जाने वाली अधिकांश के ट्रेन देरी से चल रही है।

मौसम विभाग के मुताबिक अरब सागर में पैदा हुए कम दबाव के चलते भारी बारिश हो रही है। अलगे 48 घंटे गुजरात में भारी बारिश का दौर जारी रहेगा। गुजरात सरकार ने बारिश के मद्देनजर सभी जिला कलेक्टर व स्थानीय प्रशासन की छुट्टी रद कर दी है।

सरदार सरोवर बांध से पानी छोड़े जाने से वडोदरा जिले के 25 गांव अलर्ट
मध्य प्रदेश के इंदिरा सागर डेम के 12 दरवाजे तथा ओमकारेश्वर डेम के 16 दरवाजे खोले जाने सरदार सरोवर बांध का जल स्तर 136.43 मीटर तक पहुंच गया है। जिसके कारण बांध के 23 दरवाजे पहली बार 4.1 मीटर तक खोलने से नर्मदा नदी उफान पर है। प्रशासन ने वडोदरा जिले के 25 गांवो को अलर्ट कर दिया है।
वड़ोदरा जिला क्लेक्टर शालिनी अग्रवाल ने बताया कि सरदार सरोवर बांध से कई चरणों में 10 लाख क्यूसिक पानी छोड़ा जाएगा। नर्मदा नदी के किनारे बसने वाले करीब 25 गांव के लोगों को सतर्क रहने का आदेश दिया गया है। उन्होंने कहा कि डभोई तहसील के तीन, शिनोर के 11 और करजण तहसील के 11 गांवों को सतर्क कर प्रशासन द्वारा निरीक्षण किय जा रहा है। जरूरत पड़ने पर लोगों का स्थानांतरण किया जाएगा।
गौरतलब है कि सरदार सरोवर बांध की ऊंचाई 138 मीटर है, जबकि जलस्तर 136.43 तक पहुंच गया है।

गुजरात में बरसात के इस मौसम में अभी तक तकरीबन 110 प्रतिशत पानी बरसने के कारण जहां पेयजल संकट समाप्त हो गया, वहीं पानी भर जाने के कारण प्रशासन ने राज्य के 109 जलाशयों को हाईअलर्ट पर रखा हैं। कुल 204 जलाशयों में से 72 जलाशय छलक गए हैं, जबकि 109 में उनकी क्षमता का 90 प्रतिशत जल इकट्ठा हो गया है। वहीं, 12 जलाशयों में 80-90 प्रतिशत पानी भरने से अलर्ट पर रखे गअ हैं। राज्य में बरसात का सिलसिला जारी होने के कारण 70-80 प्रतिशत भरे 12 जलाशयों के लिए चेतावनी जारी की गई है।

भारी बारिश की वजह से गुजरात का अहमदाबाद शहर पानी-पानी हो गया। जगह-जगह पानी भर जाने से लोगों को आने-जाने में परेशानी का सामना करना पड़ा। जलभराव की वजह से वाहनों की रफ्तार थम गई।  

गुजरात के नर्मदा जिले के केवड़िया में नर्मदा नदी पर बने सरदार सरोवर बांध में पानी 136 मीटर को पार कर गया है। भारी बारिश के कारण बांध 91 प्रतिशत भर चुका है।

मध्य प्रदेश से पानी की अधिक आवक के कारण बांध के 30 में से 23 गेट खोल दिए गए हैं। इसलिए बांध के निचले इलाकों में नदी से लगे गांवों के लिए बाढ़ का अलर्ट जारी कर दिया गया है।

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप