नई दिल्ली, एजेंसी। उत्तर प्रदेश के बाद गुजरात पुलिस भी नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुए नुकसान की वसूली करेगी। वहीं, सीएए के विरोध में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत केरल और असम में बुधवार को भी विरोध प्रदर्शन हुए। केरल में मुस्लिम संगठनों ने रैली निकाली। गुजरात के वडोदरा में 20 दिसंबर को विरोध प्रदर्शन के दौरान पथराव से पुलिस के कई वाहनों को नुकसान हुआ था।

वडोदरा के पुलिस आयुक्त अनुपम सिंह गहलोत ने बताया कि करीब 40 हजार रुपये का नुकसान हुआ है। पुलिस जल्द ही कोर्ट में अपील कर प्रदर्शनकारियों से इसकी वसूली के लिए अनुमति मांगेगी। वडोदरा पुलिस के लिए नुकसान की वसूली का यह पहला मामला होगा। पुलिस ने प्रदर्शन के दौरान हिंसा के मामले में 40 लोगों को गिरफ्तार किया था।

कोडुंगलर फिल्म सोसाइटी के मामले में 2018 में सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि किसी प्रदर्शन के दौरान सरकारी और निजी क्षति को नुकसान पहुंचता है तो उसका किस तरह से आकलन किया जाएगा और उसकी कैसे वसूली की जाएगी। वहीं, केरल के कोच्चि में मुस्लिम संगठनों ने सीएए के विरोध में रैली निकाली। बड़ी संख्या में रैली में शामिल प्रदर्शनकारियों ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारे भी लगाए। असम के नलबारी और बारपेटा जिलों में मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल को आल असम स्टूडेंट्स यूनियन (आसू) और अन्य छात्र संगठनों ने काले झंडे दिखाए। सोनोवाल गुवाहाटी से सड़क मार्ग से बारपेटा जिले के कृष्णगुरु आश्रम जा रहे थे।

तमिल लेखक कन्नन गिरफ्तारतलिनाडु के तिरुनेलवेली में 29 दिसंबर को सीएए के विरोध में प्रदर्शन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ अपशब्दों का प्रयोग करने वाले लेखक नेल्लई कन्नन को गिरफ्तार कर लिया गया है। भाजपा के कई नेताओं ने कन्नन के खिलाफ केस दर्ज कराए थे।

प्रदर्शनकारी की पाकिस्तान से संबंधों की जांचतमिलनाडु पुलिस सीएए के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल गायत्री खंदादाई के पाकिस्तानी संस्थान 'बाइट्स फॉर आल' से संपर्को की जांच कर रही है। यह संस्थान पाकिस्तानी पत्रकारों के संगठन से जुड़ा है। चेन्नई के पुलिस आयुक्त एके विश्वनाथन ने कहा कि रंगोली बनाकर प्रदर्शन किए जाने के वक्त भी यह महिला मौके पर मौजूद थी। वह मद्रास विश्वविद्यालय में प्रदर्शन में भी शामिल थी। पुलिस को उसके फेसबुक प्रोफाइल से उसके पाकिस्तान के संपर्क के बारे में पता जला है, जिसमें उसने खुद को पाकिस्तान संस्थान का रिसर्चर बताया है।

 गुजरात: जन्म के 4 घंटे बाद ही कलयुगी मां ने दबाया बच्ची का गला, मौत

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस