भावनगर, प्रेट्र। गुजरात के भावनगर स्थित एक महिला कालेज की प्रभारी प्राचार्या ने निर्देश जारी करते हुए छात्राओं को सत्तारूढ़ भाजपा की पेज समिति का सदस्य बनने को कहा। भाजपा पेज समिति के सदस्य बूथ स्तर पर पार्टी के लिए मतदाता सूची की निगरानी करते हैं। मामला सामने आने पर विपक्षी कांग्रेस ने भाजपा पर राजनीति के लिए शिक्षण संस्थानों के दुरुपयोग का आरोप लगाया, जबकि कालेज प्रबंधन ने प्रभारी प्रचार्या द्वारा त्याग पत्र दिए जाने की बात कही।

एनसी गांधी व बीवी गांधी महिला कला व वाणिज्य महाविद्यालय की प्रभारी प्राचार्या रजनीबाला गोहिल ने 24 जून को एक निर्देश जारी करते हुए भावनगर नगर निगम क्षेत्र में रहने वाली सभी छात्राओं को अपने साथ पासपोर्ट साइज फोटो व मोबाइल फोन लाने को कहा, ताकि उन्हें भाजपा की पेज समिति का सदस्य बनाया जा सके।

कालेज के ट्रस्टी धीरेन वैष्णव ने कहा कि मामला रविवार रात में उनके संज्ञान में आया, जिसके तत्काल बाद उन्होंने अन्य ट्रस्टी से बात की और गोहिल को संपर्क किया। उन्होंने बताया कि भावनगर स्ट्रीट केलावणी मंडल ट्रस्ट के सभी संस्थान विकास व शैक्षणिक गतिविधियों पर केंद्रित हैं और किसी भी राजनीतिक कार्यक्रम में शामिल नहीं होते। प्रभारी प्राचार्या ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए इस्तीफा दे दिया है। हालांकि, इसके लिए उन पर कोई आंतरिक या बाहरी दबाव नहीं था।

कांग्रेस की भावनगर इकाई के प्रमुख प्रकाश वघाणी ने कहा कि भाजपा दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी होने की बात करती है। अब यह साफ हो चुका है कि वह किस प्रकार बड़ी बनी। यह पहला संस्थान नहीं है, बल्कि कई संस्थान भाजपा के दबाव व नियंत्रण में काम करते हैं। गौरतलब है कि गुजरात में साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी सक्रिय है। इसके अलावा अन्य सियासी दलों के नेता भी गुजरात चुनाव में अपनी उपस्थिति दर्ज करने की रणनीति बना रहे हैं। 

Edited By: Sachin Kumar Mishra