अहमदाबाद, राज्य ब्यूरो। गूगल मैप की गलती से एंबुलेंस 108 समय पर नहीं पहुंच सकी जिस कारण गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के चचेरे भाई की राजकोट में मौत हो गई। मुख्यमंत्री ने इस मामले में राजकोट की कलेक्टर से जवाब मांगा है।

राजकोट की कलेक्टर रम्या मोहन ने बताया कि गत चार अक्टूबर को राजकोट के ईश्वरिया इलाके में मोदी स्कूल के पास रहने वाले अनिल संघवी ने सांस लेने में तकलीफ होने पर 108 को कॉल कर मदद मांगी। एंबुलेंस राजकोट शहर के ईश्वरिया इलाके में पहुंचने की जगह ईश्वरिया गांव पहुंच गई। करीब 45 मिनट बाद पहुंची एंबुलेंस से अनिल संघवी को अस्पताल पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

गूगल मैप ने बताई गलत दिशा

मृतक के परिजनों ने 108 एंबुलेंस सेवा को दोषी बताया जबकि संचालक का कहना है कि गुगल मैप के चलते एंबुलेंस उसी नाम के दूसरे पते पर पहुंच गई और पीड़ित के घर पहुंचने में देरी हुई।

सीएम ने राजकोट की कलेक्टर से जवाब मांगा

अनिल संघवी मुख्यमंत्री रूपाणी के चचेरे भाई हैं इसलिए सीएमओ में हंगामा मचा है। अनिल संघवी के परिजनों का आरोप है कि समय पर एंबुलेंस सेवा मिल जाती तो उनका जीवन बच सकता था।

एंबुलेंस सेवा प्रदाता से भी मामले में रिपोर्ट 

कलेक्टर ने 108 के जिला संयोजक से इस मामले में रिपोर्ट मांगी है। कलेक्टर ने बताया कि राजकोट में ईश्वरिया इलाका है जहां मोदी स्कूल है वहीं राजकोट ग्रामीण में भी ईश्वरिया गांव व मोदी स्कूल है। गूगल मैप ने गलत दिशा बता दी थी। उन्होंने एंबुलेंस सेवा प्रदाता से इस मामले में रिपोर्ट मांगी है। सेवा प्रदाता का कहना है कि लैंडलाइन से फोन आया था। पता नहीं मिलने पर उस नंबर पर 13 बार कॉल किया, लेकिन मरीज के परिवार से संपर्क ही नहीं हो सका।                                

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप