अहमदाबाद, जागरण संवाददाता। आईसीएमआर के दिशा निर्देश के बाद गुजरात सरकार ने अन्य प्रदेशों से गुजरात में प्रवेश करने वाले यात्रियों के लिए आरटी पीसीआर (Rt-Pcr) टेस्ट की रिपोर्ट की अनिवार्यता समाप्त कर दी है। कोई भी स्वस्थ व्यक्ति अब गुजरात में बिना इसी रिपोर्ट के प्रवेश कर सकेगा। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने गत दिनों अंतर राज्य परिवहन को लेकर कई राज्य सरकारों की ओर से लागू की गई आरटी पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट की अनिवार्यता को गैर जरूरी बताते हुए राज्यों से जांच रिपोर्ट की अनिवार्यता को समाप्त करने का आग्रह किया था।

4 मई को जारी अपने दिशा निर्देश में आईसीएमआर ने इसका स्पष्ट उल्लेख किया था इससे पहले गुजरात सरकार, राजस्थान सरकार, महाराष्ट्र सरकार सहित कई राज्यों ने अपने अपने क्षेत्रों में आने वाले यात्रियों से आरटी पीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट को अनिवार्य कर रखा था। हालांकि अहमदाबाद महानगर पालिका ने अहमदाबाद के लोगों के लिए इस अनिवार्यता को समाप्त करते हुए कहा था कि राजस्थान, मध्य प्रदेश अथवा महाराष्ट्र से अहमदाबाद आने वाले यात्रियों को आरटी पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट की कोई जरूरत नहीं है।

स्वास्थ्य विभाग ने बताया है कि अगर यात्री कोरोना संक्रमित नहीं है तथा उनमें किसी तरह के कोई लक्षण नहीं है तो वह बिना जांच रिपोर्ट भी प्रदेश में आ सकते हैं लेकिन जिन्हें सर्दी खांसी बुखार अथवा कोरोना से जुड़े अन्य कोई लक्षण हो तो यात्रा को टालें। गुजरात सरकार ने अहमदाबाद में ड्राइव थ्रू आरटी पीसीआर टेस्ट की भी व्यवस्था कर रखी है। गुजरात हाईकोर्ट की ओर से राज्य सरकार को कोविड-19 टेस्ट की संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए, जिसके बाद सरकार ने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों में भी कोरोना की जांच की व्यवस्था की लेकिन पता चला है कि राज्य की नौ यूनिवर्सिटी ने ही अपने यहां आरटी पीसीआर टेस्ट की व्यवस्था की है।

गुजरात में राज्य सरकार के अधीन 26 विश्वविद्यालय हैं तथा इनमें से पांच विश्वविद्यालय और कोविड-19 की जांच व्यवस्था शुरू करने वाले हैं। राज्य में अभी नेशनल फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी गांधीनगर, सरदार पटेल यूनिवर्सिटी आणंद, वीर नर्मद दक्षिण गुजरात यूनिवर्सिटी सूरत तथा आई आई पी एच गांधीनगर, आणंद एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी, यूकेए यूनिवर्सिटी बारडोली, अहमदाबाद यूनिवर्सिटी कामधेनू यूनिवर्सिटी गांधीनगर सेंट्रल यूनिवर्सिटी गुजरात सहित नौ विश्वविद्यालयों में आरटी पीसीआर टेस्ट किए जा रहे हैं।