अहमदाबाद, जागरण संवाददाता। road accident in Gujarat. गुजरात में गांधीनगर के पास अंबापुरा गांव के तालाब में एक मर्सिडीज कार बेकाबू होकर तालाब में जा गिरी। हादसे में कार में सवार दंपत्‍ती की मौत हो गई। डूबने से पहले वे कार की छत पर आकर मदद की गुहार लगाने लगे, लेकिन उन्‍हें कोई मदद नहीं मिल सकी। रोड पर बने स्पीड बंप के चलते कार की स्‍टीयरिंग लॉक होने का घटना का पहला कारण माना जा रहा है।

अंबापुरा गांव के तालाब के पास बनी रोड से रविवार शाम एक मर्सिडीज कार अचानक स्पीड बंप आने के बाद तालाब में जा गिरी। कार पूरी तरह डूबती उससे पहले उसमें सवार पति व पत्‍नी उसकी छत पर आ गए और मदद की गुहार लगाने लगे, लेकिन तुरंत मदद नहीं मिल सकी और तैरना नहीं आने से दोनों तालाब में डूब गए।

इधर, घटना की जानकारी मिलने पर फायर ब्रिगेड ने मौके पर पहुंचकर पुरुष का शव निकाल लिया, लेकिन महिला के शव की तलाश जारी है। कार से बरामद पहचान पत्र व दस्‍तावेजों के आधार पर हादसे में मारे गए पुरुष की पहचान अहमदाबाद के असारवा में जीवराज पार्क के आनंद मोदी के रूप में हुई। जबकि कार मुंबई खाडिया स्‍ट्रीट निवासी पन्‍नाबेन चंद्रवदन मोदी के नाम पर पंजीकृत है। पुलिस घटना की जांच कर रही है कि यह महज दुर्घटना थी या आत्‍महत्‍या। 

गौरतलब है कि गुजरात में सुरेंद्रनगर जिले के लिंबडी में शनिवार तड़के एक कार ट्रक से टकरा गई जिससे उसमेें सवार पांच लोगों की मौत हो गई और एक घायल हो गया। हादसा उस समय हुआ, जब तेज रफ्तार कार ने अपना नियंत्रण खो दिया और आगे जा रहे ट्रक से टकरा गई। इस समय पूरे देश में लॉकडाउन लागू है, जिसके चलते सड़क हादसों में भी काफी कमी आई है।

आंकड़ों के अनुसार, प्रतिवर्ष देशभर में लगभग 1.5 लाख लोग सड़क हादसों में अपनी जान गंवा देते हैं। एक दिन में 400 लोगों की दुर्घटनाओं में मौत होती है। पिछले वर्ष सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने लोकसभा में सड़क हादसों को लेकर अपने विभाग की ही कमी को जिम्‍मेदार ठहराया था। ऐसे हादसों से लोगों को बचाने के लिए पिछले दिनों मोदी सरकार संशोधित मोटर वाहन एक्‍ट को लेकर आई थी। इस बिल में पहले के नियमों के अपेक्षा 10 गुना अधिक ट्रैफिक चालान का प्रावधान किया गया था। जबकि गुजरात सरकार ने मोटर वाहन संशोधन कानून के तहत ट्रैफिक चालान में लोगों को राहत भी दी थी। 

दो मार्च को गुजरात के तापी में भी नेशनल हाइवे 53 पर टैंकर और जीप की जोरदार टक्‍कर में दस लोगों की मौत हो गई थी और आठ लोग घायल हो गए थे। हादसे की जानकारी मिलते ही पुलिस और स्‍थानीय लोग मदद के लिए पहुंच गए थे और इलाज के लिए उन्‍हें अस्‍पताल तक पहुंचाया था।

 

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस