अहमदाबाद, जेएनएन। BRTS track in Gujarat. गुजरात में बीआरटीएस बस से हो रही दुर्घटनाओं को रोकने के लिए गुजरात सरकार ने एक बड़ा फैसला किया है। सरकार ने बीआरटीएस ट्रैक पर अन्य वाहनों के चलाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। अगर बीआरटीएस ट्रैक पर अन्य वाहन चालक अपना वाहन चलाते हुए पकड़े जाएंगे तो उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जाड़ेजा की अध्यक्षता में पुलिस अधिकारी तथा परिवहन विभाग के अधिकारियों की मिली बैठक में यह निर्णय किया गया है।

अहमदाबाद-सूरत में पिछले बीआरटीएस बस की टक्कर से छह लोगों की मौत हो गई थी। इसके अलावा आए दिन बीआरटीएस बस से दुर्घटनाओं के मामले सामने आते रहते हैं। प्रदेश की राजधानी गांधीनगर में गृहराज्य मंत्री की अध्यक्षता में मिली पुलिस अधिकारी व परिवहन निगम की बैठक में इन तमाम पहलुओं पर विचार- विमर्श किया गया। इस बैठक के बाद गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने बताया कि बीआरटीएस बस से हो रही दुर्घटनाओं को लेकर सरकार चिंतित है। दुर्घटनाओं का मुख्यकारण यह है कि वाहन चालक बीरआटीएस ट्रैक में अवैध रूप से घुसकर वाहन चालते हैं। बीआरटीएस बस से हुई दुर्घटनाओ में किस की गलती है, यह पूरी तरह से स्प्ष्ट नहीं हुआ है। इसलिए बीआरटीएस ट्रैक के तमाम रूट पर सीसीटीवी लगाने के आदेश दे दिए गए।

बीआरटीएस बस चालक धीमी गति से बस चलाएंगे और बीआटीएस के रूट पर जगह-जगह स्पीड ब्रेकर भी लगाने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि बीआरटीएस ट्रैक पर निजी वाहन चलाने पर प्रतिबंध लगाया गया है। अगर कोई भी व्यक्ति बीआरटीएस रूट पर वाहन चलाते हुए पकड़ा एयेगा तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उसे गिरफ्तार भी किया जा सकेगा।

गौरतलब है कि पिछले हफ्ते दो दिनों में अहमदाबाद और सूरत मे बीआरटीएस बस की टक्कर से छह लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद से प्रदेश भर मे प्रशासन के खिलाफ गुस्सा भड़क उठा है।। लोगों का आरोप है कि बीआरटीएस के अलग से बनाए गए ट्रैक के कारण निजी वाहन चालकों के लिए सड़कों की चौड़ाई कम हो गई है। सड़कों की चौड़ाई कम होने से ट्रैफिक जाम की स्थिति पैदा होती है। वाहन चालक जल्द जाने के लिए बीआरटीएस ट्रैक मेँ घुस कर वाहन चालते हैं। जिस कारण बीआरटीएस बस से दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। लोगों ने सरकार को बीआरटीएस बंद कर सामान्य रूप से बस चलाने की मांग की।

गुजरात की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस