अहमदाबाद, जेएनएन। अहमदाबाद के निजी पाठशालाओं तथा अहमदाबाद महानगरपालिका में पढ़ाई कर रहे 573 छात्र किडनी, कैंसर और हार्ट की गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं। राज्य सरकार ने इनका मुफ्त में इलाज शुरू कर दिया हैं। छात्रों के स्वास्थ्य परीक्षण कार्यक्रम के दौरान यह जानकारी मिली हैं। यह कार्यक्रम अगले एक महीने तक जारी रहेगा।

गुजरात सरकार प्रति वर्ष छात्रों के स्वास्थ्य परीक्षण का कार्यक्रम आयोजित करती हैं। इस दौरान गंभीर बीमारी से ग्रस्त पाये जाने वाले छात्रों का मुफ्त में ही इलाज करवाती हैं। इस स्वास्थ्य परीक्षण के दौरान अहमदाबाद शहर में अहमदाबाद महानगरपालिका एवं निजी संस्थाओं द्वारा संचालित प्राथमिक पाठशालाओं के छात्र गंभीर बीमारी से ग्रस्त पाये गये हैं। अहमदाबाद शहर के 346 छात्र ह्रदय, 194 किडनी और 33 छात्र को कैंसर की बीमारी हैं। इन सभी छात्रों की चिकित्सा शुरू कर दी गयी हैं।

इस बार अहमदाबाद महानगरपालिका द्वारा 25 नवम्बर 2019 से 31 जनवरी 2020 तक स्वास्थ्य परीक्षण कार्यक्रम जारी रहेगा। इस कार्यक्रम में 74 शहरी स्वास्थ्य केन्द्र के सभी कर्मचारियों द्वारा तथा राष्ट्रीय बाल स्वास्थय कार्यक्रम के कर्मचारियों द्वारा स्वास्थय परीक्षण के लिए 170 टीम गठित की गयी हैं।

इन टीमों द्वारा स्कूल, आंगनवाडी में जाकर स्वास्थ्य की जांच की जाती हैं। इन टीमों ने अहमदाबाद की 2,860 आंगनवाड़ी, 505 सरकारी पाठशाला, 2023 निजी पाठशाला, 6 आश्रम पाठशाला एवं एक कस्तूरबा आश्रम पाठशाला, 5 अनाथ आश्रम, 15 विकलांग एवं अंधजन पाठशाला, दो चिल्ड्रेन होम, 27 मदरसा, चार केन्द्रीय विधालय तथा तीन अन्य पाठशालाओं के कुल 12,50,496 छात्रों के स्वास्थय की जांच की जायेगी।

इस दौरान 28 दिसम्बर तक 5.87 लाख से भी अधिक बालकों के स्वास्थ्य परीक्षण की जांच की गयी हैं। इसमें आंख, दांत, चमड़ी, कान, नाक तथा गला के विशेषज्ञों के द्वारा जांच हुई। यह कार्यक्रम अभी  एक महीने तक जारी रहेगा। अभी तक थेलेसेमिया से ग्रस्त 41 बालक भी मिले हैं। इनका भी इलाज शुरू कर दिया गया हैं।   

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस