राजपिपला, प्रेट्र। गुजरात के नर्मदा जिले में सरदार वल्लभ भाई पटेल की स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को देखने के लिए शनिवार को पर्यटकों के पहुंचने के सारे रिकॉर्ड टूट गए। जनता के लिए महज दस दिन पहले खुले इस विशाल और भव्य स्मारक को देखने एक दिन में ही 27,000 पर्यटक पहुंच गए।

 उल्लेखनीय है कि केवड़िया स्थित सरदार सरोवर बांध के करीब बनी 182 मीटर प्रतिमा का अनावरण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31 अक्टूबर को किया था और इसे आम जनता के लिए एक नवंबर से ही खोला गया है। यह विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा है।

दिनोंदिन पर्यटकों की बढ़ती आमद को देखते हुए गुजरात सरकार को जनता से स्मारक की क्षमता को देखते हुए वहां आने की योजना बनाने की अपील करनी पड़ी है। दरअसल, विशालतम प्रतिमा के अंदर बनी दर्शकदीर्घा में जाने के लिए तेज गति की दो लिफ्ट हैं। यह अधिकतम पांच हजार लोगों को प्रतिदिन ऊपर ले जा सकती हैं। इस दर्शकदीर्घा में एक समय में अधिकतम दो सौ लोग आ सकते हैं और यह प्रतिमा में 135 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

इस विशालकाय प्रतिमा को देखने के अलावा लोग विजिटर सेंटर, सोवनियर शॉप, प्रदर्शनी हाल, दर्शकदीर्घा आदि भी जा सकते हैं। स्टेच्यू ऑफ यूनिटी में प्रवेश और दर्शकदीर्घा के लिए वयस्कों के टिकट की कीमत 350 रुपये हैं। वहीं, तीन-15 साल तक के बच्चों के लिए 200 रुपये का टिकट है।

नर्मदा के जिला कलेक्टर आरएस निनामा ने भी इस बात की पुष्टि की है कि शनिवार को 27 हजार पर्यटक स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी देखने पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि प्रशासन को लगता है कि यह तादाद रविवार को और भी ज्यादा बढ़ सकती है। उन्होंने बताया कि यहां बड़ी तादाद में पर्यटक दीपावली की छुट्टियों और गुजराती नववर्ष की छुट्टियों के चलते पहुंच रहे हैं। रविवार के लिए पर्यटकों को पार्किग लॉट से स्टेच्यू तक ले जाने के लिए फीडर बसों की तादाद 15 से बढ़ाकर 40 कर दी गई है।

राज्य सरकार ने पर्यटकों से अपील की है कि स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी के आधारभूत ढांचे की क्षमता और समय को ध्यान में रखते हुए अपने यहां आने की योजना बनाएं। गुजरात सरकार ने आगंतुकों को सूचित करने के लिए बयान जारी करके कहा है कि यह स्मारक मेनटेनेंस के काम के लिए हर सोमवार को बंद रहेगा।

 

Posted By: Arun Kumar Singh