सूरत, एएनआइ। गुजरात में सूरत के कोसांबा इलाके में मंगलवार तड़के एक ट्रक की चपेट में आने से 15 लोगों की मौत हो गई। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, "सभी मजदूर राजस्थान के बांसवाड़ा जिले के कुशलगढ़ उपखंड के रहने वाले थे।" इनमें से छह लोग एक ही परिवार के थे। निर्माण कार्य के लिए गुजरात आये ये सभी मजदूर फुटपाथ पर सो रहे थे की तभी ट्रक ने इन्‍हें बेरहमी से कुचल दिया। जिससे 15 मजदूरों की मौत हो गई। इस हादसे में कुछ मजदूर गंभीर रूप से घायल भी हुए हैं। घायलों को इलाज के लिए सूरत के स्‍मीमेर अस्‍पताल में भर्ती करवाया गया है। ट्रक चालक को गिरफ्तार कर लिया गया है।

दो साल और एक साल के बच्‍चे की हुई मौत, छह माह की बच्‍ची जिंदा बची

सूरत में हुए दर्दनाक हादसे में दो साल की बच्ची और एक साल के बच्चे की भी मौत हुई है। वहीं छह माह की बच्ची की जान बच गई। वह मां-पिता के साथ सो रही थी। इस हादसे के बाद लाशों के ढेर के बीच बच्ची के रोने की आवाज सुनकर पुलिस ने उसे रेस्क्यू किया और तुरंत अस्पताल पहुंचाया। बच्ची के मां-पिता की मौत हो चुकी है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जाहिर की संवेदना

गुजरात में हुए दर्दनाक हादसे पर दुख जताते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने ट्वीट में लिखा- गुजरात के सूरत में हुई दर्दनाक सड़क दुर्घटना का समाचार सुनकर मुझे गहरा दुख पहुंचा है। मैं, मृतकों के परिवारों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करता हूं और घायल हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

राजस्थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने किया सहायता राशि का ऐलान

राजस्थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने हादसे का शिकार हुए बांसवाड़ा, राजस्थान के मजदूरों की मौत पर गहरा शोक व्‍यक्‍त किया और घायलों के शीघ्र स्‍वस्‍थ होने की कामना की है। राजस्थान सरकार की ओर से मृतक के परिवार को 2-2 लाख रुपये का मुआवजा और सीएम राहत कोष से घायल लोगों को 50,000 रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की गई है।

गुजरात के मुख्‍यमंत्री रूपाणी ने कि अनुग्रह राशि देने की घोषणा

गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी ने भी सूरत में हुए दर्दनाक हादसे में जान गंवाने वालों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है।

प्रधानमंत्री राहत कोष से पीड़ित परिवार को मदद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दुर्घटना पर दुख जताते हुए इस हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्‍यक्‍त की है। पीएम मोदी ने घायलों के भी जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना की है। प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से प्रत्‍येक पीड़ित परिवार को 2 लाख रुपये और प्रत्येक घायल को 50,000 दिए जाने की घोषणा की गई है।

कैसे हुआ हादसा

ये दर्दनाक हादसा मंगलवार सुबह सूरत के पालोद गांव में हुआ जब ये मजदूर सड़क किनारे फुटपाथ पर सो रहे थे। उसी समय गन्‍ने से भरा ट्रैक्‍टर और ट्रक आमने सामने आ गए और ट्रक चालक ने अपना नियंत्रण खो दिया और ट्रक फुटपाथ पर गहरी नींद सो रहे मजदूरों पर चढ़ गया जिससे 13 मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि कई अन्‍य गंभीर रूप से घायल हो गए। घायल मजदूरों में से दो मजदूरों की मौत की खबर है जिसके बाद हादसे में मरने वालों की संख्‍या अब 15 हो चुकी है।  

 Accident In Fog: अहमदाबाद वडोदरा एक्सप्रेस हाईवे पर कोहरे का कहर, आपस में टकराये 3 दर्जन वाहन

 Bus Accident Bhubaneswar: भुवनेश्वर लौट रही पिकनिक बस पलटी, एक की मौत, 15 यात्री घायल

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप