लंदन, एएफपी। इंग्लैंड के लिए रिकॉर्ड गोल दागने वाले वेन रूनी ने बुधवार को तुरंत प्रभाव से अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल को अलविदा कह दिया। इंग्लिश टीम के पूर्व कप्तान रूनी ने अपने इस निर्णय से कोच गेरेथ साउथगेट को मंगलवार को ही फोन पर अवगत करवा दिया था। 31 वर्षीय रूनी ने दो दिन पहले ही अपने बचपन के क्लब एवर्टन की ओर से खेलते हुए मैनचेस्टर सिटी के खिलाफ प्रीमियर लीग में अपना 200वां गोल दागा था।

दरअसल साउथगेट ने कप्तानी और टीम में जगह गंवा चुके रूनी को नए क्लब एवर्टन की ओर से खेलते हुए सत्र के शुरुआत में अच्छी फॉर्म हासिल करने पर बधाई देने के लिए फोन किया था। रूनी ने जारी बयान में कहा, 'यह शानदार था कि इस सप्ताह साउथगेट ने मुझे यह बताने के लिए फोन किया था कि वह आगामी मैचों के लिए मुझे फिर से इंग्लिश टीम में शामिल करना चाहते हैं। मैं उनके इस कदम की सराहना करता हूं। काफी लंबे समय तक पहले ही विचार करने के बाद मैंने साउथगेट से कहा कि मैंने अच्छे के लिए अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से संन्यास लेने का फैसला किया है। यह एक कठिन निर्णय था। मैंने इस बारे में परिजनों, अपने क्लब एवर्टन के कोच (रोनाल्ड कोमैन) और करीबियों से चर्चा की।'

खास बातें

- 2003 में 17 वर्ष की उम्र में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया था इंग्लैंड की ओर से पदार्पण

- 2004 में 18 वर्ष की उम्र में यूरो कप के रूप में खेला था पहला मेजर टूर्नामेंट

- 2016 नवंबर को कप्तान के रूप में स्कॉटलैंड के खिलाफ खेला था अंतिम मैच। इसमें इंग्लैंड 3-0 से जीता था

अंतरराष्ट्रीय रिकॉर्ड

119: मैच खेले

71: जीते

53: गोल किए

माल्टा और स्लोवाकिया से खेलना है इंग्लैंड को

इंग्लैंड को विश्व कप क्वालीफायर में एक सितंबर को माल्टा और उसके तीन दिन बाद स्लोवाकिया से खेलना है। इसी के लिए साउथगेट रूनी को टीम में शामिल करना चाहते थे। रूनी ने कहा कि अब वह अपना पूरा ध्यान एवर्टन को अधिक से अधिक ट्रॉफियां दिलाने में लगाएंगे। वह इसी साल मैनचेस्टर युनाइटेड को छोड़कर एवर्टन से जुड़े हैं।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021