नई दिल्ली, जेएनएन। बेल्जियम की मजबूत टीम ने शुक्रवार को एक दोस्ताना मुकाबले में स्कॉटलैंड को 4-0 से हरा दिया और नेशंस लीग में मुकाबले से पहले अपनी तैयारियों का जायजा लिया। मिकी बातशुइ के दो और रोमेलु लुकाकू और इडेन हैजार्ड के एक-एक गोल की बदौलत बेल्जियम ने स्कॉटलैंड को उसके घर में पिछले 45 वर्षो में सबसे बड़ी हार के लिए मजबूर कर दिया।

लुकाकू (28वें मिनट) और हैजार्ड (46वें मिनट) ने अपनी टीम को शुरुआती बढ़त दिलाई और फिर बातशुइ (52वें और 60वें मिनट) ने दूसरे हाफ में दो गोल करते हुए अपनी टीम को एक बड़ी जीत दिला दी। फरवरी 1973 में इंग्लैंड के खिलाफ 0-5 से मिली शिकस्त के बाद स्कॉटलैंड की अपने घरेलू मैदान पर यह सबसे बड़ी हार है। 2018 विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंची बेल्जियम की टीम ने पूरे मुकाबले में अपना दबदबा बनाए रखा। 

वहीं स्कॉटलैंड को अपनी गलतियों की सजा भुगतनी पड़ी। नेशंस लीग में बेल्जियम अपने अभियान की शुरुआत आइसलैंड के खिलाफ मंगलवार को करेगा। बेल्जियम के कोच रॉबर्टो मार्टिनेज अपने खिलाडि़यों के प्रदर्शन से खासे संतुष्ट नजर आए और कहा कि मंगलवार के मुकाबले से पहले यह अच्छा अभ्यास रहा। वहीं स्कॉटलैंड के कोच एलेक्स मैकलेश भी अपने खिलाडि़यों की गलतियों से खासे मायूस नजर आए। स्कॉटलैंड की यह मैकलेश की कोचिंग में खेले गए पांच मैचों में चौथी हार रही जिन्होंने गोर्डन स्ट्राकन की जगह ली थी

नेमार व फर्मिनो के गोल से जीता ब्राजील

रॉबर्टो फर्मिनो (11वें) और नेमार (43वें मिनट) के गोल की बदौलत ब्राजील ने अनुभवहीन अमेरिकी टीम को एक दोस्ताना मुकाबले में 2-0 से हरा दिया। विश्व कप 2018 में खराब प्रदर्शन के बाद पहली बार अंतरराष्ट्रीय मुकाबला खेलने उतरी ब्राजील की टीम ने अपने खेल पर नियंत्रण बनाए रखा। दक्षिण अमेरिका की इस शीर्ष टीम ने इससे पहले पिछले 10 मुकाबलों में अमेरिका के खिलाफ जीत हासिल की थी, वहीं अमेरिका को इकलौती जीत 1998 में मिली थी।

मेटलाइफ स्टेडियम में ब्राजील की टीम ने अपने विजय क्रम को 11 मुकाबलों तक पहुंचा दिया। नेमार ने पेनाल्टी के जरिये गोल दागा। इस मुकाबले से पहले नेमार को ब्राजील के कोच टिटे ने कप्तानी का दायित्व सौंपा जो कि अपने देश के रोनाल्डो के दूसरे सर्वाधिक गोल के रिकॉर्ड से महज पांच गोल दूर हैं। रोनाल्डो के नाम 62 गोल हैं, जबकि पेले 77 गोल के साथ सबसे आगे हैं। टिटे ने अमेरिका के खिलाफ मुकाबले के दूसरे हाफ में अपने चार खिलाडि़यों को पदार्पण करने का मौका दिया।

 

Posted By: Lakshya Sharma