सेंट पीटर्सबर्ग, एपी। रूस के घरेलू मैदान में वार (वीडियो एनालिसिस रिव्यु) के चलते फिनलैंड की टीम को 1-0 से हार का मुंह देखना पड़ा। मैच के शुरुआती चौथे मिनट में ही फिनलैंड की तरफ से जोएल पोहजानपालो ने हेडर से शानदार गोल मारा, मगर इस गोल को आफ साइड करार दे दिया गया और इसके बाद फिनलैंड मैच में पिछड़ता चला गया। यही वार मैच में फिनलैंड की हार की मुख्य वजह बना और रूस को जीत मिली।

पहले हाफ में वार की शुरुआती घटना के बाद 14वें मिनट में रूस के मैगोमेद ओज़्दोएव के पास गोल करने का शानदार मौका था, लेकिन वह इसे भुना नहीं पाए। इसके बाद पहले हाफ के इंजुरी समय में एक बार फिर रूस ने मौका बनाया और अलेक्सी मिरानचुकी ने शानदार गोल करके टीम को बढ़त दिलाई।

दूसरे हाफ में फिनलैंड के खिलाडि़यों ने काफी प्रयास किए, मगर वे रूस के डिफेंस में सेंध लगाने में नाकामयाब रहे और अंत तक एक भी गोल नहीं कर सके। इसके चलते रूस ने मैच को 1-0 से अपने नाम किया।

यह रूस की दो मैचों में पहली जीत है और अब वह तीन अंक लेकर ग्रुप बी में दूसरे स्थान पर आ गया है। वहीं, पहली बार यूरो कप में क्वालीफाई करने वाली फिनलैंड की टीम भी दो मैचों में एक जीत के साथ इतने ही अंक लेकर तीसरे स्थान पर है।

रूस का खिलाड़ी पहुंचा अस्पताल

फिनलैंड के खिलाफ मैच के दौरान 25वें मिनट में रूस को बड़ा झटका लगा, जब उसके डिफेंडर मारियो फर्नांडीस हेडर के जरिये गोल मारने के चक्कर में चोटिल हो गए और उन्हें स्ट्रेचर से उठाकर बाहर ले जाना पड़ा। इसके बाद जानकारी मिली कि उनकी रीढ़ की हड्डी में चोट आई, जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। यूरो कप में ऐसा दूसरा मौका है जब किसी खिलाड़ी को स्ट्रेचर पर उठाकर अस्पताल ले जाया गया है।

 

Edited By: Vikash Gaur