नई दिल्ली, जेएनएन। यूएफा नेशंस लीग के पहले सत्र के पहले मुकाबले में मौजूदा विश्व चैंपियन फ्रांस ने म्यूनिख में पूर्व विश्व चैंपियन जर्मनी को गोलरहित ड्रॉ (0-0) पर रोक दिया। एक अन्य मुकाबले में गेरेथ बेल के दमदार खेल की बदौलत वेल्स ने आयरलैंड को 4-1 से हराया।

एलियांज एरिना में इन दो विश्व चैंपियंस के बीच एक जोरदार मुकाबले की उम्मीद की जा रही थी, लेकिन बारिश के खलल के बीच इस मुकाबले का रंग थोड़ा फीका नजर आया। हालांकि, फ्रांस की टीम को अपने गोलकीपर एल्फोंसे एरियोला का शुक्रगुजार होना चाहिए, जिन्होंने दूसरे हाफ में कई बेहतरीन बचाव करके उसे हार से बचा लिया। फ्रांस के मुख्य गोलकीपर हुगो लॉरिस की जगह एरियोला ने इस मुकाबले के जरिये अपने करियर की शुरुआत की।

कोच दिदिएर डेसचैंप्स ने उनके रूप में विश्व कप फाइनल खेलने वाली फ्रांस की टीम में इकलौता बदलाव किया। पेरिस सेंट जर्मेन के गोलकीपर एरियोला ने जर्मनी के मार्को रीउस और मिथिएस जिंटर के प्रयासों को जाया किया, जबकि फ्रांस के स्टार खिलाड़ी एंटोनी ग्रीजमैन की एक अच्छी कोशिश को जर्मन गोलकीपर मैनुअल नॉयर ने बेकार कर दिया। 

वेल्स की बड़ी जीत

गेरेथ बेल के शानदार गोल की बदौलत वेल्स ने नेशंस लीग में आयरलैंड को 4-1 से हरा दिया। वेल्स से बतौर कोच जुड़ने के बाद रयान गिग्स का यह पहला मुकाबला था। टॉम लॉरेंस (छठे मिनट) के गोल करने के बाद 18वें मिनट में बेल ने बॉक्स के बाहर से एक बेहतरीन गोल किया। बेल के अंतरराष्ट्रीय करियर का यह 30वां गोल था जो कि अपनी राष्ट्रीय टीम के सर्वकालिक सबसे ज्यादा गोल करने वाले फुटबॉलर हैं।

हाफ टाइम के आठ मिनट पहले आरोन रामेसी ने वेल्स के लिए तीसरा गोल दागा। हाफ टाइम के बाद बेल से मिले पास पर कोनोर रॉब‌र्ट्स ने गोल करके वेल्स को 4-0 की बढ़त दिलाई। 66वें मिनट में स्थानापन्न शॉन विलियम्स ने आयरलैंड की ओर से इकलौता गोल दागा।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Lakshya Sharma