लंदन, रायटर्स। EURO 2020 Winner: इटली की टीम ने यूएफा यूरो कप जीतने का सपना फिर साकार किया है। हालांकि, यूरो कप का दूसरा खिताब जीतने के लिए इटली की टीम को एक या दो दशक नहीं, बल्कि 5 दशक से ज्यादा का समय लगा है। 1968 के बाद पहली बार इटली की टीम यूरोपियन चैंपियनशिप की विनर बनी है। यूरो कप 2020 की चैंपियन टीम का ऐलान रविवार को हो गया है, जिसमें इटली की टीम ने बाजी मारी है।

लंदन के वेम्बली स्टेडियम में खेले गए इस महामुकाबले में मेजबान इंग्लैंड को हार झेलनी पड़ी, जबकि इटली की टीम ने शूटआउट में खिताबी जीत हासिल कर इतिहास रच दिया। 52 साल के बाद इटली की टीम को यूरो कप जीतने का मौका मिला है। यूरो कप 2020 का फाइनल मुकाबला रविवार को खेला गया। इस मैच में इटली ने शूटआउट के दौर में मेजबान इंग्लैंड को 3-2 से हरा दिया और इंग्लैंड का खिताब जीतने का सपना चकनाचूर कर दिया।

इटली और इंग्लैंड के बीच खेला गया ये मुकाबला निर्धारित समय और फिर अतिरिक्त टाइम में 1-1 से बराबरी पर रहा। ऐसे में नतीजा निकालने के लिए शूटआउट का सहारा लिया गया और इस शूटआउट में इटली ने 3-2 से बाजी मार ली। 55 साल पहले विश्व कप जीतने के बाद से इंग्लैंड अपने पहले बड़े फाइनल में हारकर वेम्बली की भीड़ के लिए दिल दहला देने वाला था। इंग्लैंड की टीम ने लंबे समय से कोई ट्रॉफी नहीं जीती है।

इस बड़े मैच में स्टार खिलाड़ी और कप्तान हैरी केन और स्टार्लिंग का जलवा पूरी तरह गायब दिखा, जिसका खामियाजा इंग्लैंड को भुगतना पड़ा। इंजुरी टाइम तक मुकाबला बराबरी पर रहने के बाद पेनल्टी शूटआउट का पहला शॉट इंग्लिश कप्तान हैरी केन ने लिया और गेंद जाल में उलझा दी। इसके बाद इटली के डॉमेनिको बेरार्डी ने भी गोल दागने में कामयाबी हासिल की। इंग्लैंड के हैरी मैग्यूरे ने भी गोल दागा, जबकि इटली के आंद्रे बेलोटी चूक गए। इंग्लैंड के पास 2-1 की बढ़त थी, लेकिन इसके बाद इटली के लिए बुनाची और फेडेरिको ने दनादन गोल दागते हुए 3-2 का अंतर कर दिया। दूसरी ओर, इंग्लैंड के मार्कस रशफोर्ड, जादोन सांचो और बुकायो साका ऐसा करने में असफल रहे और इटली की टीम जीत गई।

Edited By: Vikash Gaur