पुणे, प्रेट्र। भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान व सीनियर खिलाड़ी सुनील छत्री ने साफ कर दिया है कि उन्होंने अभी इस बात पर फैसला नहीं लिया है कि वो इस खेल से कब संन्यास लेंगे। हालांकि अब ये साफ हो गया है कि वो देश के लिए ज्यादा मैच नहीं खेलेंगे। 35 साल के हो चुके सुनील छेत्री ने कहा था कि राष्ट्रीय टीम के साथ खेलने के लिये उनके पास ज्यादा मैच नहीं बचे हैं इसलिये वह खुद के लिये लंबे समय का लक्ष्य निर्धारित नहीं करेंगे।

छेत्री ने कहा अपने फुटबॉल भविष्य को लेकर कहा कि मैं अपने करियर के दूसरी ओर हूं। मैंने अपने देश के लिये 112 मैच खेल लिये हैं और मैं 250 मैच नहीं खेलूंगा। मेरा मतलब यही था कि मेरे पास खेलने के लिये ज्यादा मैच नहीं बचे हैं। मैं नहीं जानता कि कब खेलना बंद कर दूं लेकिन मुझे यह खेल पसंद है। उन्होंने एक कार्यक्रम के बाद कहा कि मैं सचमुच काफी ऊर्जावान महसूस करता हूं। इसलिये मैं जितना संभव हो, उतना खेलूंगा। लेकिन सच्चाई यह है कि मैं अपने करियर के दूसरी ओर हूं और मैं अपने देश के लिये 100 और मैच नहीं खेलने वाला हूं। इसलिये ये जितने भी मैच हों, 10, 20, 30, 40, 60, मैं नहीं जानता कि कितने मैच लेकिन जितने ज्यादा खेल सकता हूं, उतने में अपना सर्वश्रेष्ठ दूंगा।

क्रिस्टियाना रोनाल्डो के बाद सक्रिय खिलाड़ियों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दूसरे सबसे ज्यादा गोल करने वाले सुनील छेत्री इस समय इंडियन सुपर लीग में बेंगलुरु एफसी के लिये खेलते हैं, उन्होंने मोहन बागान और एटीके के विलय की प्रशंसा की और कहा कि यह अच्छा करार था। छेत्री एक बेहतरीन फुटबॉलर हैं और वो काफी लंबे वक्त से देश के लिए खेल रहे हैं। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस