नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय सीनियर फुटबॉल टीम ओमान के खिलाफ 27 दिसंबर को अबूधाबी में अंतरराष्ट्रीय दोस्ताना मुकाबला खेलेगी। इस मैच को यूएई में 2019 में खेले जाने वाले एएफसी एशियन कप की तैयारी के तौर पर भी देखा जा रहा है। अक्टूबर के फीफा रैंकिंग के मुताबिक ओमान इस वक्त 84वें नंबर पर है जबकि भारत की रैंकिंग 97वीं है। 

ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन के जेनरल सेक्रेटरी कुशल दास का कहना है कि एशियन कप से पहले भारत का अपने मजबूत के खिलाफ खेलने से उनकी तैयारी अच्छी होगी। ओमान काफी मजबूत टीम है और फीफा 2018 विश्व कप क्वालीफायर्स में हमारी टीम ने उनके खिलाफ ड्रॉ खेला था। हमें इस टीम की कमजोरी और मजबूत पक्ष के बारे में अच्छी तरह से पता है। अगले टूर्नामेंट की तैयारी के मद्देनजर ये हमारे खिलाड़ियों की असली परीक्षा होगी। मैं ओमान फुटबॉल फेडरेशन का धन्यवाद अदा करते हैं कि वो अबू धाबी में हमारे साथ मैच खेलने को तैयार हो गए। 

भारतीय फुटबॉल टीम के कोच स्टीफन कांस्टेस्टाइन ने कहा कि हमें लय में आने की जरूरत है। जोर्डन के खिलाफ हमने अपना आखिरी मैच खेला था और उस वक्त परिस्थिति काफी अलग थी। इस मैच के जरिए हमारे खिलाड़ियों ने काफी कुछ सीखा। उन्होंने कहा कि ओमान की टीम लगभग बहरीन और यूएई जैसी ही है। इन दोनों टीमों को एएफसी एशियन कप में भारत के खिलाफ ग्रुप स्टेज में भिड़ना है। 

भारत ने ओमान के खिलाफ फीफा विश्व कप 2018 के क्वालीफायर्स के लिए 2015 में मैच खेला था। बेंगलुरु में भारत को 1-2 से जबकि मस्कट में भारत को 0-4 से हार का सामना करना पड़ा था। कोच ने कहा कि अब उनकी टीम पूरी तरह से बदल चुकी है। तीन वर्ष के बाद अब हम पूरी तरह से एक अलग टीम हैं। मुझे विश्वास है कि हम अच्छा करेंगे और ये हमारे लिए एक अच्छा मैच साबित हो सकता है। भारत यूएई में होने वाले एएफसी एशियन कप में अपना पहला मैच थाइलैंड के खिलाफ 6 जनवरी 2018 को खेलेगा। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021