बुडापेस्ट, एपी। कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे से अब तक दुनिया जूझ रही है लेकिन इसको लेकर लोगों की मानसिकता बदलती नजर नहीं आ रही। कोविड-19 महामारी पर नियंत्रण करने के लिए लिए सोशल डिस्टेंसिंग को सबसे कारगर हथियार बताया जा रहा है लेकिन हंगरी में इसका मजाक बनाया गया। बुडापेस्ट होनवेड के खिलाड़ियों ने हंगरी कप फुटबॉल फाइनल जीतने के बाद भारी तादाद में जमा दर्शकों के सामने जश्न मनाया। इस दौरान कोई भी खिलाड़ी शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं कर रहा था। जोर्जे कांबेर सबसे आगे खड़े थे जो जीत के सूत्रधार भी थे। 

हंगरी में फुटबॉल पिछले महीने ही फिर शुरू हो गया। कोरोना के कारण सत्र बीच में रोक दिया गया था। अधिकांश आयोजकों ने हर दर्शक के बीच में तीन सीटें खाली रखने के नियम का पालन किया लेकिन फाइनल में बाद दर्शकों ने नियम तोड़ दिया।

 

जर्मनी और पुर्तगाल चैंपियंस लीग फाइनल की मेजबानी के दावेदार

जर्मनी और पुर्तगाल यूएफा चैंपियंस लीग फाइनल की मेजबानी के दावेदार हैं और यह फाइनल अब इस्तांबुल की जगह कहीं और भी कराया जा सकता है। यूरोपीय फुटबॉल की शीर्ष इकाई युएफा की 17 जून को हुई बैठक में तय किया जाएगा कि अगस्त में फाइनल कहां होगा। जानकार सूत्रों ने बताया कि क्वार्टर फाइनल और सेमीफाइनल भी उसी देश में होंगे।

एएफसी कप प्लेऑफ में खेलेगा बेंगलुरु एफसी

आइलीग चैंपियन मोहन बगान और एटीके के विलय से सुनील छेत्री की अगुआई वाली बेंगलुरु एफसी को फायदा मिला है क्योंकि इससे उसे इंडियन सुपर लीग (आइएसएल) में तीसरे स्थान पर रहने के बावजूद एएफसी कप के आगामी सत्र के प्लेऑफ में खेलने का मौका मिलेगा। एफसी गोवा को आइएसएल के लीग चरण का विजेता होने के कारण महाद्वीप के शीर्ष क्लब टूर्नामेंट एएफसी चैंपियंस लीग के ग्रुप चरण में सीधा प्रवेश मिला है। गोवा की टीम यह उपलब्धि पाने वाली पहली भारतीय टीम है। 

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस