सियोल, एएफपी। कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच कई देशों में फुटबॉल मैचों का आयोजन शुरू हो गया है। अब इसी लिस्ट में साउथ कोरिया का नाम भी जुड़ने जा रहा है। दक्षिण कोरिया में फुटबॉल सत्र शुक्रवार 8 मई से शुरू होगा। कोरोना वायरस के कारण यहां दो महीने तक खेलों पर पाबंदी लगा दी थी, लेकिन अब फुटबॉल जैसे खेल पटरी पर लौट रहे हैं। साउथ कोरिया ने फुटबॉल के मैच शुरू होने से पहले तमाम नियम भी बना दिए हैं।

खाली स्टेडियम में खेले जाने वाले मैचों के दौरान महामारी के संक्रमण के खतरे से बचने के लिए नए सुरक्षा दिशानिर्देश जारी किए गए हैं जिसमें गोल का जश्न मनाने, हाथ मिलाने और यहां तक कि बात करने को लेकर भी कड़े नियम बनाए गए हैं। बेलारूस, तुर्कमेनिस्तान और ताइवान जैसे देशों ने कोरोना वायरस के कारण फुटबॉल मुकाबले नहीं रोके थे, लेकिन दक्षिण कोरिया फुटबॉल खेलने वाला पहला बड़ा देश है जो कोरोना के विलंब के बाद लीग शुरू कर रहा है।

यहां पूरी तरह से बंद कर दिए गए थे खेल

दक्षिण कोरिया उन देशों में शामिल था जिनमें चीन के बाहर शुरुआत में कोरोना का सबसे अधिक प्रकोप दिखा था जिसके बाद पेशेवर खेलों ने अपने सत्र निलंबित या स्थगित कर दिए थे और फिर बाद में दुनिया भर के देशों ने यही कदम उठाए थे। मंगलवार को खाली स्टेडियम में बेसबॉल की वापसी के बाद अब फुटबॉल की वापसी होगी। के-लीग एशिया की पहली बड़ी प्रतियोगिता है जिसमें मुकाबले खेले जाएंगे।

मोंशेंग्लाबाख क्लब के खिलाड़ी और फिजियो को कोरोना वायरस

बुंडिशलीगा क्लबों में 10 पॉजिटिव मामलों में से दो बोरुसिया मोंशेंग्लाबाख से सामने आए हैं जिसमें एक खिलाड़ी और एक फिजियो शामिल है। एक रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई है। दोनों को क्वारंटाइन में भेज दिया गया है। वहीं, टीम के अन्य खिलाड़ियों ने सामान्य ट्रेनिंग जारी रखी।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस