मॉस्को, आइएएनएस। फुटबॉल की विश्व नियामक संस्था फीफा का कहना है कि विश्व कप टूर्नामेंट के पहले और टूर्नामेंट के दौरान कराए गए डोपिंग टेस्ट में एक भी मामला पॉजिटिव नहीं आया है। विश्व कप से पहले और इस दौरान 3,000 से अधिक टेस्ट कराए गए थे। इसमें डोपिंग का एक भी मामला नहीं है।

फीफा ने विश्व कप टूर्नामेंट से पहले कुल 2,761 नमूने इकट्ठा किए थे। इसके बाद टूर्नामेंट के दौरान 626 नमूने लिए थे। मैच न रहने के दौरान 108 टेस्ट लिए गए थे।

अपने बयान में फीफा ने कहा, 'नियमित परीक्षणों को फीफा के वाडा के 'एडीएएमएस' प्रणाली में एथलीट जैविक पासपोर्ट कार्यक्रम के उपयोग द्वारा पूरा किया गया था'।

फीफा की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

फीफा के शेड्यूल के लिए यहां क्लिक करें

टूर्नामेंट में लिए गए नमूनों को 10 साल तक के लिए सुरक्षित रखा जाएगा। ऐसे में भविष्य में दोबारा इन नमूनों की जांच की जाएगी।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस