ब्रासीलिया, एपी। सुपरस्टार स्ट्राइकर और कप्तान लियोन मेसी अर्जेंटीना को अंतरराष्ट्रीय खिताब दिलाने के लिए कितने बेताब हैं, इसका अंदाजा बुधवार को कोलंबिया के खिलाफ सेमीफाइनल से लगाया जा सकता है। वह चोटिल होने के बाद भी खेलते रहे और जीत दिलाने तक मैदान पर डटे रहे। वहीं, उनकी टीम के गोलकीपर एमिलियानो मार्टिनेज ने शूट आउट में तीन अहम पेनाल्टी बचाकर टीम को फाइनल में तक पहुंचाने में अपनी भी अहम भूमिका निभाई।

इन दोनों के प्रदर्शन से अर्जेंटीना ने सेमीफाइनल में कोलंबिया को पेनाल्टी शूट आउट में 3-2 से हराकर कोपा अमेरिका कप के फाइनल का टिकट कटाया। अब फाइनल में मेसी की भिड़ंत नेमार की टीम मेजबान ब्राजील से होगी। मेसी ने एक बार फिर साबित कर दिया कि उन्हें विश्व के सबसे सर्वश्रेष्ठ स्ट्राइकरों में क्यों गिना जाता है। मैच के दौरान उनका टखने में चोट लगी और खून भी बहने लगा लेकिन इस स्ट्राइकर ने अपनी हिम्मत नहीं टूटने दी। उन्होंने बहते खून के साथ ही पेनाल्टी शूट आउट में गोल भी दागा। 55वें मिनट में फ्रैंक ने मेसी को टक्कर मारी और वह गिर पड़े। उनकी एड़ी का जोड़ चोटिल हो गया। वहां से खून निकला। रेफरी ने फ्रैंक को यलो कार्ड भी दिखाया।

गोलकीपर मार्टिनेज बने नायक :

अर्जेटीना की ओर से लौटारो मार्टिनेज ने सातवें मिनट में गोल कर टीम को बढ़त दिलाई। मेसी ने बाक्स के अंदर से एक शानदार पास मार्टिनेज को दिया, जिन्होंने इसे गोल में बदलने में कोई गलती नहीं की। टीम ने इस बढ़त को पहले हाफ तक कायम रखा। दूसरे हाफ में लुइस डियाज ने 61वें मिनट में गोल कर स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया। दोनों टीमों ने फिर बढ़त हासिल करने की कोशिश की लेकिन, अंतिम मिनट तक अन्य गोल नहीं कर सके और मुकाबला 1-1 की बराबरी पर रहा।

फिर अतिरिक्त समय में भी गोल नहीं हुआ। जिसके बाद पेनाल्टी शूट आउट में अर्जेंटीना के गोलकीपर एमिलियानो मार्टिनेज नायक बनकर उभरे जिन्होंने तीन पेनाल्टी बचाई। माíटनेज ने शूट आउट में सांचेज, येरी मिल्ना और एडविन कारडोना के शाट रोके। अर्जेंटीना की ओर से रोड्रिगो डि पाल गोल करने में नाकाम रहे लेकिन, मेसी, लियांड्रो पेरेडेस और लाटेरो र्माटिनेज ने अपनी टीम की जीत सुनिश्चित की। कोलंबिया के लिए सिर्फ जुआन कुआड्राडो और मिगुएल बोरजा ही गोल कर पाए।

 

Edited By: Viplove Kumar