ल्योन। हाल के वर्षों में फाइनल की फिसलन से परेशान एटलेटिको मैड्रिड और मार्सेली यूरोपा लीग के फाइनल में बुधवार देर रात भिडऩे जा रही है जहां डिएगो सिमेयोने की टीम पर अपनी ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन करने का दबाव होगा। एटलेटिको को 2014 के यूएफा चैंपियंस लीग के फाइनल में अतिरिक्त समय में शिकस्त झेलनी पड़ी थी और फिर दो साल बाद इसी लीग के फाइनल में उसे पेनाल्टी शूटआउट में हार मिली थी। 

ग्र्रीजमैन पर निगाहें : मौजूदा सत्र के चैंपियंस लीग के ग्र्रुप चरण से ही बाहर होने के बावजूद एटलेटिको ने आश्चर्यजनक प्रदर्शन किया है जिसके आक्रमण की अगुआई एंटोनी ग्र्रीजमैन ने की है। हालांकि माना जा रहा है कि ग्र्रीजमैन का एटलेटिको मैड्रिड के साथ यह पहला और आखिरी यूरोपा लीग का खिताबी मुकाबला होगा जिन्होंने अब तक अपना पूरा करियर स्पेन में बिताया है। ल्योन में ग्र्रीजमैन के साथ डिएगो कोस्टा एटलेटिको मैड्रिड के आक्रमण की अगुआई करेंगे जहां 1984 में उसे डायनेमो कीव के खिलाफ विनर्स कप के फाइनल में 0-3 से शिकस्त झेलनी पड़ी थी। 

तीसरे खिताब पर निगाहें : पिछले नौ वर्षों में एटलेटिको मैड्रिड ने दो बार यूरोपा चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया है और अब उसकी निगाहें तीसरी बार खिताबी जीत हासिल करने पर है। एटलेटिको ने 2010 और फिर डिएगो सिमेयोने के मैनेजर बनाए जाने के बाद 2012 में खिताब जीता था। 

एक जैसे हालात : एटलेटिको मैड्रिड की तरह फ्रेंच क्लब मार्सेली को भी यूरोपियन टूर्नामेंट के फाइनल्स में कई मौके पर हार झेलनी पड़ी है। इससे पहले मार्सेली ने यूरोप के कई टूर्नामेंट के चार फाइनल्स में जगह बनाई है लेकिन केवल एक मौके पर उसने एसी मिलान को 1993 में हराकर चैंपियंस लीग का खिताब जीता है। हालांकि मैनेजर रुडी गार्सिया की टीम इस बार गलती करने के मूड में नहीं है। क्वार्टर फाइनल में मार्सेली ने जहां आरबी लिपजिग को हराया था तो वहीं सेमीफाइनल में सल्जबर्ग को हराकर अब वह फाइनल में अपने घरेलू दर्शकों को एक और खिताबी तोहफा देना चाहते हैं। फाइनल में मार्सेली की नजर एटलेटिको की मजबूत रक्षापंक्ति को भेदने की होगी। 

By Sanjay Savern