(बाईचुंग भूटिया का कॉलम)

हीरो इंडियन सुपर लीग अब अपने अंतिम पड़ाव पर है और टीमों पर दबाव साफ तौर पर देखा जा सकता है। अभी तक अच्छा प्रदर्शन करने वाली एफसी गोवा भी वर्तमान में शीर्ष पर कायम बेंगलुरु एफसी से हार के बाद थोड़े दबाव में दिखने लगी है। इस परिणाम से टूर्नामेंट में प्रतिस्पर्धा काफी खुल गई है और सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए तीसरी और चौथी टीम कोई भी हो सकती है।

मजबूत चेन्नईयन एफसी के खिलाफ मुकाबले में अगर परिणाम नकारात्मक रहता है, तो तनाव बहुत ही ज्यादा बढ़ सकता है। गोवा ने धमाकेदार शुरुआत की थी, लेकिन पिछले कुछ मैचों से उनके दो स्ट्राइकर गोल नहीं कर पा रहे हैं। हालांकि उस टीम को अभी से खारिज करना बहुत जल्दी होगी, जिसमें कई सारे प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं। सबसे अहम बात यह है कि उनके पास अभी कुछ मैच बचे हुए हैं, उन्हें एक बार में एक ही मैच के बारे में सोचना चाहिए। इस लीग की सबसे अच्छी बात यह है कि किस्मत कभी भी पलट सकती है, क्योंकि टीम को अपने प्रदर्शन में निरंतरता बनाए रखने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ रही है। बेंगलुरु के खिलाफ गोवा खुलकर नहीं खेल पाया और काफी रक्षात्मक रहा। यह ऐसा समय है जब आपको खेल को निखारना होता है।

(टीएसएम)

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

By Pradeep Sehgal