नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़) सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें एक महिला और उसकी गोद में एक बच्चे को देखा जा सकता है। पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है कि यह कोई फोटो नहीं, बल्कि एक पेंटिंग है। दैनिक जागरण की फैक्ट चेकिंग टीम विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा गलत है। यह असल में एक फोटो है, कोई पेंटिंग नहीं।

विश्वास न्यूज़ ने इस पोस्ट की पड़ताल करने के लिए सबसे पहले इसे गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया। यह तस्वीर Nagendra Mayya Photography नाम के एक फेसबुक पेज पर 30 अगस्त 2021 को अपलोडेड मिली। कैप्शन में लिखा था "May the festival of Janmashtami bring lot of happiness Keep doing good karma"

हमें यह तस्वीर इसी पेज के इंस्टाग्राम अकाउंट nmclicks पर भी मिली।

इस फेसबुक पेज के अबाउट अस सेक्शन के अनुसार यह एक फोटोग्राफी पेज है। यहाँ लिखा था "We specialize in themed or creative candid wedding, family, newborn, travel, birthday party, couple and baby photo shoot."

हमने इस विषय में इस पेज की एडमिन जननी से फ़ोन पर संपर्क साधा। उन्होंने कन्फर्म किया कि वायरल दावा गलत है। उन्होंने हमें बताया कि असल में यह एक फोटो है, जिसे उन्ही की टीम ने खींचा था।" फेक पोस्ट को शेयर करने वाली यूजर Gita Chary पेज रेडियो तराना की सोशल स्कैनिंग करने पर हमने पाया कि यूजर कनाडा में रहती है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ की टीम ने अपनी पड़ताल में पाया कि दावा गलत है। यह असल में एक फोटो है, कोई पेंटिंग नहीं।

इस पूरी खबर को विश्वास न्यूज़ की वेबसाइट पर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Edited By: Nitin Arora