नई दिल्‍ली, विश्‍वास न्‍यूज। नवरात्री उत्सव से समापन के बाद से ही सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें एक दुर्गा पूजा पंडाल के अंदर एक बोर्ड पर नमाज़ की टाइमिंग्स लिखी देखि जा सकती है। पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है कि यह पश्चिम बंगाल के एक पंडाल की तस्वीर है। दैनिक जागरण की फैक्ट चेकिंग वेबसाइट विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल पोस्‍ट की जांच की और पाया कि यह तस्वीर बांग्लादेश के एक पूजा पंडाल की है।

विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल पोस्ट को जांचने के लिए तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया। यह तस्वीर dailyfrontier की वेबसाइट पर मिली। इस असली तस्वीर में यह बैनर बांग्ला भाषा में लगा हुआ था और उसका अनुवाद वही था जो वायरल तस्वीर में है। मगर इस खबर के अनुसार, यह तस्वीर बांग्लादेश की राजधानी ढाका के उत्तरा स्थित सेक्टर 11 के एक दुर्गा पूजा पंडाल की है।

ये बात तो तय थी कि यह तस्वीर बांग्लादेश की है, पर अब हमें यह जानना था कि क्या पश्चिम बंगाल में ऐसी कोई घटना हुई है? हमने इंटरनेट पर कीवर्ड्स के साथ ढूंढा मगर हमें कहीं भी ऐसी कोई खबर नहीं मिली।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए विश्‍वास न्‍यूज ने दैनिक जागरण के कोलकाता ब्यूरो चीफ जे के वाजपेयी से संपर्क साधा। उन्होंने बताया कि यह वायरल तस्वीर वेस्ट बंगाल की नहीं है और उनकी जानकारी के अनुसार, राज्य में ऐसी कोई घटना सामने नहीं आयी है। इस पोस्ट को राष्ट्रदेव नाम के एक फेसबुक पेज ने शेयर किया था। पेज के कुल 368,648 फ़ॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल पोस्‍ट की जांच की और पाया कि यह तस्वीर बांग्लादेश के एक पूजा पंडाल की है, भारत की नहीं।

इस पूरी पड़ताल को विश्वास न्यूज़ की वेबसाइट पर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Edited By: Nitin Arora