नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। महाराष्ट्र में चल रही सियासी हलचल के बीच सोशल मीडिया पर दो मिनट 57 सेकंड के एक वीडियो को हाल ही का बताकर शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि शिवसेना और एनसीपी के कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट का हो गई है। वीडियो में मौजूद लोगों को आपस में पहले बहस और बाद में हाथापाई करते हुए देखा जा सकता है। दैनिक जागरण की फैक्ट चेकिंग वेबसाइट विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल दावा गलत निकला। वायरल वीडियो हाल-फिलहाल का नहीं है, बल्कि 2019 का है।

विश्वास न्यूज़ ने वायरल वीडियो को (शिवसेना और एनसीपी कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट) के कीवर्ड से सर्च किया। हमें ये वीडियो कई पुरानी तारीखों में कई जगह अपलोड मिला। “NMTV News ” नाम के एक फेसबुक पेज ने 1 मार्च 2019 को इस वीडियो को शेयर किया था। वीडियो के साथ लिखा था, “एनसीपी और शिवसेना के पार्षद एमके माधवी वार्ड 18 ऐरोली में मंगल कार्यालय के उद्घाटन को लेकर लड़ते हुए”

सर्च में हमें ये वीडियो F3 News नाम के फेसबुक पेज पर भी अपलोड मिला। 1 मार्च 2019 को अपलोड इस वीडियो को नवी मुंबई ऐरोली का बताया गया है। वीडियो को यहां देखा जा सकता है।

विश्वास न्यूज ने मिड-डे के सीनियर रिपोर्टर समीउल्लाह खान से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि ये वीडियो पुराना है, हाल का नहीं है। गलत दावे के साथ वीडियो वायरल हो रहा है।

इस पड़ताल को विस्तार से यहां पढ़ें।

Edited By: Babli Kumari