नई दिल्ली, जेएनएन। जी5 पर 10 दिसम्बर को कातिल हसीनाओं के नाम सीरीज रिलीज हो रही है। सीरीज का निर्देशन ब्रिटिश-भारतीय निर्देशक मीनू गौर ने किया है। यह सात महिलाओं की छह-भाग वाली एंथोलॉजी सीरीज है। कहानियों में दिखाया गया है कि जब एक महिला की लिमिट्स को पुश किया जाता है तो क्या होता है। इस सीरीज का निर्माण जी5 और जिंदगी ने किया है। सीरीज में पाकिस्तानी मनोरंजन इंडस्ट्री के कई जाने-माने कलाकार मुख्य भूमिकाओं में नजर आएंगे। इनमें से एक हैं फैजा गिलानी। 

फैजा ने भारत और पाकिस्तान के कंटेंट में समानता और अंतर के बारे में बात करते हुए बताया,"कंटेंट विशेष रूप से जब सोशल-पॉलिटिकल फ्रेमवर्क में रखा जाता है, अक्सर काफी समानता होती है। इसका प्रमुख कारण यह है कि हमारा एक शेयर्ड रीजन है। कई वर्षों तक एक साथ रहने के परिणामस्वरूप भी हमारी कई विचारधाराएं समान हैं। इसलिए हम पाकिस्तान और भारत दोनों में जितना संभव हो, उतना नारीवादी काम प्रोड्यूस करने की आवश्यकता महसूस करते हैं, जैसा कि आप देख सकते हैं। दोनों देशों ने पहले अलग-अलग वुमन-ओरिएंटेड नैरेटिव के क्षेत्रों में भी काम किया है।"

View this post on Instagram

A post shared by Faiza Gillani (@faizagillani)

फरजाद नबी और मीनू गौर द्वारा लिखित यह शो रहस्यों से भरे पड़ोस में स्थापित है और इसमें दिखाया गया है कि क्या होता है, जब महिलाएं अपने भाग्य को खुद संभालने का फैसला करती हैं और परिस्थितियों और समाज के सामने घुटने नहीं टेकती हैं।

सीरीज में फैजा के अलावा सनम सईद, सरवत गिलानी, सामिया मुमताज, बियो राणा जफर, इमान सुलेमान, सलीम मैराज, अहसान खान, उस्मान खालिद बट और शहरयार मुनव्वर जैसे उम्दा कलाकार अहम भूमिकाओं में दिखेंगे। 

ट्रेलर लॉन्च पर निर्माता और निर्देशक, मीनू गौर ने कहा था, “ मुझे एक ऐसा शो बनाने का मौका मिला, जो एक महिला के दृष्टिकोण की छाप छोड़ते हुए रहस्य और मनोरंजन पर आधारित है।" महक की भूमिका निभाने वाले सरवत गिलानी ने कहा था- “यह सीरीज विभिन्न लोगों और पात्रों के माध्यम से जीवन का सार दिखाती है। सीरीज उन मुद्दों को उजागर करती है, जिनका सामना महिलाएं शुगर कोटिंग के बजाय बहुत ईमानदार तरीके से करती हैं। कातिल हसीनाओं के नाम सभी के लिए एक महत्वपूर्ण शो है, क्योंकि यह महिलाओं के शोषण और उन्हें कमजोर करने की कोशिशों के परिणामों को दर्शाता है।"

Edited By: Manoj Vashisth