प्रियंका सिंह, जेएनएन। धारावाहिक ‘देवों के देव महादेव’ में भगवान शिव का किरदार निभाने के बाद आम किरदारों से खुद को जोड़ना मोहित रैना के लिए मुश्किल रहा। हाल ही में रिलीज वेब सीरीज ‘मुंबई डायरीज 26/11’ में वह डॉक्टर के किरदार में नजर आए हैं। आगे वह ‘भौकाल 2’ वेब सीरीज और ‘शिद्दत’ फिल्म में नजर आएंगे। उनसे बातचीत के अंश:

सवाल : आपके प्रोजेक्ट्स के बीच एक लंबा अंतर होता है। अपने किरदार को लेकर इतने चूजी क्यों हैं?

जवाब : जिस कहानी को पहले बताया नहीं गया हो या ऐसे लोग जिनकी कहानी कहने की मंशा अच्छी है, ऐसे लोगों के साथ काम करने में मजा आता है। उन कहानियों का हिस्सा बनना चाहता हूं, जिनसे जीवन को बदलने वाला अनुभव मिले। अब ‘मुंबई डायरीज 26/11’ में मैंने डॉक्टर का किरदार निभाया है। इस प्रोफेशन को करीब से देखने का ख्वाब पूरा हो गया। कलाकार होने के नाते आप कई जिंदगियों को जी लेते हैं। मैं लकी हूं कि डिजिटल के दौर वाली इस इंडस्ट्री का हिस्सा हूं, जिसमें अलग कहानियां कही जा रही हैं।

सवाल : ‘मुंबई डायरीज 26/11’ शो को करने की क्या वजह रही?

जवाब : इसका विषय दिलचस्प था। इस घटना पर कई शो और फिल्में बन चुकी हैं, लेकिन डॉक्टर्स के नजरिए से इसे नहीं दिखाया गया था। डॉक्टर्स का काम सिर्फ मरीजों को ठीक करना ही नहीं होता है, बल्कि इस बात का भी ध्यान रखना होता है कि उनकी हिम्मत कम न हो। वे मरीजों को यह नहीं दिखा सकते हैं कि उनके पास सुविधाओं की कमी है। शो की कहानी सरकारी अस्पताल की पृष्ठभूमि में गढ़ी गई है।

सवाल : डॉक्टर का किरदार निभाने के लिए आपकी रिसर्च क्या थी?

जवाब : शो के निर्देशक निखिल आडवाणी का विजन स्पष्ट था। वह वास्तविक कहानियों को बनाने में माहिर हैं, ‘बाटला हाउस’, ‘एयरलिफ्ट’ जैसी फिल्में इसका उदाहरण हैं। हालांकि मेडिकल प्रोफेशनल को समझने के लिए मुझे वर्कशाप और रीडिंग्स करनी पड़ी थी। डॉक्टर शेख ने हमें मेडिकल प्रोफेशन की बारीकियां सिखार्इं। मुंबई में हुए आतंकी हमले के दौरान वह अस्पताल में मौजूद थे। मेरा किरदार देर रात तक काम करता है। इसीलिए दाढ़ी, चश्में के साथ किरदार का लुक तैयार किया गया था।

सवाल : साल 2008 में जिस दिन यह आतंकी हमला हुआ था, उस दिन की क्या यादें हैं?

जवाब : दिल दहल गया था। मैं वाशी इलाके से गुजर रहा था। पुलिस ने हमें वापस जाने के लिए कहा। चेकिंग बढ़ा दी गई थी। तीन दिन तक हम सब टीवी के सामने बैठकर देख रहे थे। मुंबई शहर शांत था, वह दर्दनाक पल था। जिसने भी उस घटना को देखा और सहा है, उनके लिए उसे भूलना असंभव होगा।

सवाल : आप पौराणिक कहानियों का हिस्सा काफी वक्त तक रहे हैं। ऐसे में क्या ‘उरी- द सर्जिकल स्ट्राइक’ को टर्निंग प्वाइंट मानते हैं?

जवाब : उस फिल्म में मेरा छोटा सा किरदार था। दरअसल, उस दौरान मुझे पावरफुल किरदार निभाने की आदत पड़ गई थी। वास्तविक किरदारों के साथ कैसे खुद को जोड़ना है, यह समझ नहीं पा रहा था। वह मेरी कमी थी, जो मैंने ठीक की। उसके बाद मैं ‘काफिर’ और ‘उरी-द सर्जिकल स्ट्राइक’ में काम कर पाया।

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

A post shared by Mohit Raina (@merainna)

सवाल : टीवी पर वापसी करेंगे?

जवाब : जिस माध्यम पर मेरी रचनात्मक जरूरतें पूरी होती रहेंगी, उस पर काम करता रहूंगा। टीवी पर कुछ क्रिएटिव काम मिलेगा तो जरूर करूंगा। इस वक्त मुझे अच्छे किरदार मिल रहे हैं।

सवाल : ‘भौकाल’ के दूसरे सीजन को लेकर काम कहां तक पहुंचा है?

जवाब : ‘भौकाल 2’ की शूटिंग खत्म हो चुकी है। शो पोस्ट प्रोडक्शन में हैं। ‘शिद्दत’ फिल्म भी पूरी हो चुकी है। लंबे समय के बाद फिजिकली अपने काम को प्रमोट करने का मौका मिल रहा है। 

Edited By: Nazneen Ahmed