नई दिल्ली, जेएनएन। 'बिग बॉस 13' को शुरू हुए एक महीने से ज़्यादा बीत चुका है, मगर अभी तक टॉप 5 शोज़ में अपनी जगह नहीं बना सका है। वैसे अकेले 'बिग बॉस 13' की यह हालत नहीं है। अमिताभ बच्चन का क्विज़ शो 'कौन बनेगा करोड़पति सीज़न 11' भी टॉप 5 मेें जाने के लिए तरस रहा है। 43वें हफ़्ते में 'द कपिल शर्मा शो' के लिए थोड़ी सी ख़ुशख़बरी ज़रूर आयी है। शहरी इलाक़ों में शो ने टॉप 5 में जगह बना ली है। 

BARC ने 43वें हफ़्ते (19-25 अक्टूबर) की जो रेटिंग्स जारी की हैं, उनमें बहुत अधिक बदलाव नहीं है। अगर ग्रामीण और शहरी इलाक़ों को मिलाकर आयी रेटिंग को देखें तो टॉप 5 में बिग बॉस 13, केबीसी 11 और द कपिल शर्मा शो नहीं हैं। दर्शकों ने जिन शोज़ ने सबसे अधिक देखा, उनमें पहले नंबर पर दंगल टीवी का बंदिनी, दूसरे स्थान पर ज़ी टीवी का कुंडली भाग्य, तीसरे स्थान पर ज़ीटीवी का ही कुमकुम भाग्य है, जबकि चौथे और पांचवें स्थान पर दंगल टीवी के शोज़ 'रहना है तेरी पलकों की छांव में' और 'द्वारकाधीश भगवान श्रीकृष्ण' हैं। 

सिर्फ़ ग्रामीण इलाक़ों की बात करें तो 43वें वीक में दंगल चैनल के शोज़ ने पहले चारों स्थानों पर कब्ज़ा जमाया। यह शोज़ हैं- बंदिनी, द्वारकाधीश भगवान श्रीकृष्ण, रहना है तेरी पलकों की छांव में और महिमा शनिदेव की, जबकि पांचवें स्थान पर ज़ीटीवी का शो कुंडली भाग्य आया। 

सिर्फ़ शहरी इलाक़ों को देखें तो 43वें वीके में शोज़ की स्थिति काफ़ी अलग है। पहले स्थान पर कलर्स टीवी का शो 'छोटी सरदारनी' चल रहा है। दूसरे स्थान पर ज़ीटीवी का शो 'कुंडली भाग्य' है। तीसरे स्थान पर सोनी सब का शो 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा', स्टार प्लस पर 'यह रिश्ता क्या कहलाता है' और पांचवें स्थान पर सोनी टीवी का शो 'द कपिल शर्मा शो' रहा। 

बिग बॉस 13 में फ़र्स्ट फ़िनाले हो चुका है और कुछ नये कंटेस्टेंट्स वाइल्ड कार्ड एंट्री के ज़रिए घर में पहुंचे हैं। ऐसे में शो में कुछ तेज़ी आने की सम्भावना है। 

Posted By: Manoj Vashisth

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप