नई दिल्ली, जेएनएन। दुनियाभर में फैली महामारी कोरोना वयारस अब तक लोगों को अपनी चपेट में ले रही है। भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 1 लाख 18 हजार 447 पहुंच गई है। हालांकि 48,533 लोग ठीक हो चुके हैंच, लेकिन अबतक 3583 लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीमारी से हर कोई डरा हुआ है। ना जाने कितने लोगों ने अपने अपनों को खो दिया है। फिल्म और टीवी इंडस्ट्री भी इसे अछूता नहीं रहा है।

हाल ही में रोडीज़ के जज रघु राम ने एक पोस्ट के जरिए बताया कि इस बीमारी की वजह से उन्होंने अपने दोस्त को खो दिया। रघु ने इंस्टाग्राम पर एक भावुक करने वाला पोस्ट शेयर किया है। रघु अपने दोस्त के साथ एक फोटो शेयर की है जिसके साथ उन्होंने लिखा, ‘कल रात मैंने तुम्हें कोविड 19 की वजह से खो दिया अब्दुल। जो दुख और दर्द मैं इस वक्त महसूस कर रहा हूं वो मैं बयां नहीं कर सकता। तुम मेरी जिंदगी में साल 2009 में राजू ड्राइवर बनकर आए। लेकिन तुम जो थे उसका सच जानकर मैं हैरान रह गया, तुम अब्दुल रऊफ थे। एक ईमानदार, प्यारा और मेहनती दोस्त जिसके कुछ ख्वाब थे। और हिम्मत थी उन ख्वाबों को पूरा करने की।

'तुमने कई प्रोडक्शन हाउस में काम किया और अपनी मेहनत के दम पर एक प्रोडक्शन हाउस के हेड बन गए। तुमने अपनी मेहनत से अपनी किस्मत बदल दी। अभी तो बहुत कुछ और हासिल करना था दोस्त। बहुत सी लड़ाइयां जीतने के लिए बाकी थीं। मैं बता नहीं सकता कि मैं तुम्हें कितना मिस करूंगा। मुझे अब भी यकीन नहीं हो रहा कि ये वायरस इतनी तेज़ रौशनी को बुझा सकता है। इस तरह गुडबाय कहने के बारे में नहीं सोचा था अब्दुल। ये कभी ठीक नहीं होगा'।

 

 

 

 

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

I lost you last night to Covid 19, Abdul. The grief I feel is indescribable, just like that of anyone who ever knew you. You came into my life in 2009 as Raju, my driver. But you surprised me with who you really were. You were Abdul Rauf. A loving, honest, competent, hard working friend who had dreams, and the courage to go after them. You worked in production of many shows, rising to the top as head of production at Monozygotic. You grew into someone we all depended on. You changed your destiny with your effort. There was so much more to achieve, my friend. So many more battles to fight side by side. I can't begin to tell you how much I'll miss you. I still can't believe this virus could extinguish so bright a spark! This was not how it was supposed to end. Goodbye, Abdul. This will never be ok.

A post shared by Raghu Ram (@instaraghu) on

Posted By: Nazneen Ahmed

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस