नई दिल्ली, जेएनएन। केबीसी 14 के मंच पर गुरुवार को तीन कंटेस्टेंट्स हॉट सीट पर बैठें। सबसे पहले रोलओवर खिलाड़ी सूरज नायर ने अमिताभ बच्चन के सवालों का जवाब दिया। नई दिल्ली के सूरज नायर ने 25 लाख के पढ़ाव तक तो अच्छा खेला, लेकिन इसके आगे का सफर वह तय नहीं कर पाए। केबीसी के इस एपिसोड में सबसे दिलचस्प सवाल कामदेव से जुड़ा हुआ था।

संस्कृत से जुड़े इस सवाल पर किया क्विट

अमिताभ बच्चन ने सूरज नायर के बारे में बताते हुए कहा कि वह एक आईटी प्रोफेशनल हैं। एक समय था जब सूरज दुकानों के बाहर खड़े होकर दूसरों को केबीसी में खेलते हुए देखा करते थे और आज का दिन है जब लोग उन्हें देखने के लिए दुकानों के बाहर इकट्ठा हुए हैं। सूरज ने 13 सवालों के सही जवाब देकर 25 लाख रुपये अपने खाते में जमा कर लिए, लेकिन जब बिग बी ने 50 लाख रुपये के लिए उनकी ओर 14 प्रश्न फेंका तो वह चूक गए। उनकी सारी लाइफलाइन भी खत्म हो चुकी थी और सूरज सवाल को लेकर काफी कंफ्यूज थे तो उन्होंने शो को क्विट कर दिया। संस्कृत से जुड़े 50 लाख रुपये का यह था सवाल,

जो उत्तर और दक्षिण भारत की शैलियों को मिलाती है, 'वेसर' वास्तुकला शैली का नाम किस जानवर के लिए संस्कृत शब्द से आता है?

A.गाय

B.गिलहरी

C.खच्चर

D.भेड़

सही जवाब-C खच्चर

View this post on Instagram

A post shared by Sony Entertainment Television (@sonytvofficial)

कामदेव के सवाल पर अटके अनिकेत पाटिल

सूरज नायर के बाद हॉट सीट पर अनिकेत पाटिल बैठे। हालांकि, वह ज्यादा देर तर खेल में टिक नहीं पाए। अनिकेत ने दो लाइफ लाइन इस्तेमाल करते हुए 40 हजार रुपये जीत लिए। इसके बाद बिग बी ने उनसे 80 हजार रुपये के लिए आठवां सवाल पूछा, जो कामदेव से जुड़ा हुआ था। इस सवाल के लिए अनिकेत ने अपनी आखिरी बची हुई लाइफलाइन वीडियो कॉल ए फ्रेंड का इस्तेमाल किया, लेकिन उनके दोस्त को भी इसका सही जवाब पता नहीं था। 80 हजार के लिए यह था सवाल,

इनमें से किस हिंदू देवता के पास गन्ने से बना धनुष और फूलों से बने तीर थे?

A.कामदेव

B.भगवान गणेश

C.वायुदेव

D.वरुण देव

अनिकेत ने इस सवाल का जवाब ऑप्शन C. वायुदेव चुनते हुए लॉक कर दिया, जो गलत निकला। सही जवाब ऑप्शन A. कामदेव था।

यह भी पढ़ें- KBC 14: अमिताभ बच्चन ने 'केबीसी' में पायजामा पहनने की सुनाई कहानी, कहा- 'थोड़ा वेंटिलेशन हो जाता है'

Tanushree Dutta Murder Attempts: तनुश्री दत्ता का खुलासा, Me Too आंदोलन के बाद कई बार किया गया जान से मारने...

Edited By: Vaishali Chandra