मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जेएनएन। सिंगर से बीजेपी नेता बने हंसराज हंस ने केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से टीवी पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम 'राम सिया के लव-कुश' पर बैन लगाने की मांग की है। दिल्ली से सांसद हंसराज का कहना है कि सीरियल में वाल्मीकि समाज की धार्मिक भावनाओं का आहत किया गया है, इसलिए इस पर बैन की मांग की जा रही है।

हंसराज हंस ने सीरियल पर बैन लगाने को लेकर प्रकाश जावड़ेकर को एक पत्र भी लिखा है। इस पत्र में हसंराज हंस ने कहा है, 'वाल्मीकि समाज ने पंजाब में विरोध प्रदर्शन भी किया। मुझे पता चला है वो रविदास समुदाय के साथ भारत बंद की योजना बना रहे हैं। यह हमारे समाज के धार्मिक सद्भाव को गंभीर रूप से प्रभावित कर सकता है। किसी को भी किसी भी समुदाय की धार्मिक भावनाओं को आहत करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।'

उन्होंने मंत्री से कहा है, 'मेरा विचार है कि धारावाहिक पर प्रतिबंध लगाने के लिए तुरंत आदेश जारी किए जाने चाहिए। किसी भी जिम्मेदार निर्माता को इस तरह के कार्यक्रम या धारावाहिक के निर्माण या लॉन्च करने से बचना चाहिए और यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि धारावाहिक का प्रसारण भारत में नहीं है।'

बता दें कि सीरियल को लेकर वाल्मीकि समाज ने आपत्ति जताई थी और इसका विरोध किया था। वहीं पंजाब में इसका कड़ा विरोध हुआ और व्यापक स्तर पर प्रभाव भी हुआ। उसके बाद पंजाब सरकार ने कार्यक्रम पर बैन लगा दिया था। वहीं वाल्मीकि समुदाय का समर्थन करते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भारत सरकार को पत्र लिखा है कि वे डीटीएच चैनल्स को निर्देश देकर इस सीरियल को तुरंत बंद कराएं।

पंजाब सरकार द्वारा धारावाहिक के प्रसारण पर शनिवार को लगाई गई रोक को हाई कोर्ट ने सोमवार को हटाने से इंकार कर दिया था।  

Posted By: Mohit Pareek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप