नई दिल्ली, जेएनएन। तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर की फ़िल्म सांड की आंख ने राजकुमार राव और मौनी रॉय की मेड इन चाइना को पांचवें दिन पीछे छोड़ दिया। दोनों फ़िल्मों का 5 दिनों का कलेक्शन 8 करोड़ से अधिक हो चुका है, मगर सांड की आंख कुछ लाख से आगे चल रही है।

मंगलवार को भाई दूज की छुट्टी में दोनों फ़िल्मों ने ठीकठाक कलेक्शन किया है। ट्रेड ट्रैकर रमेश बाला के मुताबिक़, सांड की आंख 5 दिनों में 8.75 करोड़ का कलेक्शन कर चुकी है। वहीं, मेड इन इंडिया 8.25 करोड़ पर है। सांड की आंख और मेड इन चाइना, हाउसफुल 4 के साथ 25 अक्टूबर को रिलीज़ हुई थीं। दोनों ही फ़िल्मों की शुरुआत बेहद ख़राब रही। हालांकि मेड इन चाइना, सांड की आंख से कुछ आगे रही थी। सांड की आंख ने जहां 60 लाख रुपये की ओपनिंग ली थी, वहीं मेड इन चाइना एक करोड़ जुटा सकी थी। ओपनिंग वीकेंड में सांड की आंख ने 2.80 करोड़ का कलेक्शन किया था, जबकि मेड इन चाइना 3.75 करोड़ बटोर चुकी थी। 

सोमवार को रिलीज़ का चौथा दिन और गोवर्धन पूजा की छुट्टी थी। ऐसे में दोनों फ़िल्मों के कलेक्शंस में ज़बर्दस्त उछाल आया। सांड की आंख ने 3.50 करोड़ बटोरे, जबकि मेड इन चाइना को 3 करोड़ मिलेे। इसके बाद सांड की आंख आगे निकल गयी। यह फ़िल्म दिल्ली में टैक्स फ्री घोषित की जा चुकी है।

भाई दूज के साथ दिवाली की पांच दिनों की छुट्टियां ख़त्म हो चुकी हैं। बुधवार से दोनों ही फ़िल्मों के लिए चुनौतीभरा समय शुरू हो गया है। हाउसउफुल 4 से टक्कर के चलते दोनों फ़िल्में पहले ही सफ़र कर रही हैं। शुक्रवार एक नवंबर को उजड़ा चमन रिलीज़ हो रही है, जो कम बजट की कॉमेडी फ़िल्म है। इन दोनों ही फ़िल्मों को उजड़ा चमन से टक्कर मिल सकती है। 

सांड की आंख, बागपत की शूटर दादियों चंद्रो तोमर और प्रकाशी तोमर की बायोपिक फ़िल्म है, जिसे तुषार हीरानंदाना ने निर्देशित किया है। वहीं, मेड इन चाइना को मिखाइल मूसले ने डायरेक्ट किया है। फ़िल्म की कहानी गुजरात के एक असफल बिज़नेसमैन की यात्रा पर आधारित है, जो एक आइडिया लेकर चीन जाता है। 

Posted By: Manoj Vashisth

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप