नई दिल्ली, जेएनएन। केंद्र सरकार सिनेमाघरों में सीटों की संख्या 50 फीसदी से अधिक करने की अनुमति देने पर विचार कर रही है। हालांकि, सिनेमा घरों को सख्त गाइडलाइंस का पालन करना होगा। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय नई गाइडलाइंस जारी करेगा। 

2020 में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ने के बाद देशभर में सिनेमाघर बंद कर दिये गये थे। 15 अक्टूबर से केंद्र सरकार ने सशर्त सिनेमाघर खोलने की अनुमति दी। इसके लिए कुछ गाइडलाइंस जारी की गयी थीं, जिन्हें सिनेमाघरों को हर हाल में पूरा करना था। गाइडलाइन के मुताबिक, सिनेमाघरों को अपनी क्षमता की 50 फीसदी सीटें ही बुक करनी थीं, मगर नये हालात में सरकार इस संख्या को बढ़ा रही है। गृह मंत्रालय द्वारा हालात का जायज़ा लेने के बाद निर्देश जारी किये हैं, जिनमें कहा गया है कि संक्रमण क्षेत्रों के बाहर सभी गतिविधियां जारी रहेंगी। कुछ गतिविधियों को निर्धारित एसओपी का पालन करना होगा। एएनआई के अनुसार, सिनेमाहॉल और थिएटरों को पहले ही 50 फीसदी क्षमता के साथ खोलने की अनुमति मिली हुई है। अब वे दर्शकों की संख्या बढ़ा सकते हैं, लेकिन इसके लिए संशोधित एसओपी का पालन करना होगा, जिसे सूचना प्रसारण मंत्रालय जारी करेगा।

इस फ़ैसले से निश्चित रूप से फ़िल्म इंडस्ट्री को बल मिलेगा। सिनेमाघरों को अधिक सीटों से साथ चलने की अनुमति से फ़िल्ममेकर्स बड़ी फ़िल्मों को थिएटर्स में रिलीज़ करने के लिए प्रेरित होंगे। पिछले साल कोरोना वायरस पैनडेमिक के चलते लगभग सात महीनों तक थिएटर्स पूरी तरह बंद रहे थे। 15 अक्टूबर को सिनेमाघर खुलने के बाद कम बजट की फ़िल्में तो सिनेमाघरों में आयीं, मगर बड़े बजट की फ़िल्में अभी भी रिलीज़ से दूर हैं। थिएटर ओनर्स का मानना है कि सिनेमाघरों को दोबारा खड़ा होने के लिए सुपरस्टार्स की बड़ी फ़िल्मों का सिनेमाघरों में लगना ज़रूरी है।

वैसे, अब तक आधा दर्ज़न फ़िल्मों के थिएटर्स में रिलीज़ होने की घोषणा हो चुकी है। इनमें सलमान ख़ान की राधे, जॉन अब्राहम की सत्यमेव जयते 2, कंगना रनोट की धाकड़, शाहिद कपूर की जर्सी, अजय देवगन की मैदान और एसएस राजामौली की आरआरआर शामिल हैं। 13 जनवरी को तमिल फ़िल्म मास्टर सिनेमाघरों में रिलीज़ हो चुकी है, जिसे काफ़ी अच्छा रिस्पॉन्स मिला था।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप