अनुप्रिया वर्मा, मुंबई. वहीदा रहमान, आशा पारेख और हेलन हाल ही में कपिल शर्मा के शो का हिस्सा बनी थीं. इस शो पर तीनों ने अपने दौर की कई दिलचस्प बातें शेयर की हैं.

इस दौरान जहां वहीदा रहमान ने अमिताभ बच्चन के बारे में बताया कि किस तरह 'रेशमा और शेरा' की शूटिंग के दौरान जब अमिताभ बच्चन को एक सीन में जोर का तमाचा लगाना था, तब वहां अमिताभ की मां तेजी बच्चन भी मौजूद थीं. तेजी बच्चन ने वहीदा से सुनील दत्त को बात करते हुए सुन लिया था कि सुनील ने एक सीन के लिए वहीदा को कहा था कि उन्हें अमिताभ को एक तमाचा लगाना है और इस तरह लगाना है कि एक ही टेक में बात बन जाये, ताकि अमिताभ को बार-बार तमाचा न खाना पड़े. ऐसे में वहीदा से तेजी ने आकर कहा कि वहीदा ज़रा देख कर अमिताभ को लगे न. वहीदा इस बात से नर्वस हो गई थीं. तो उन्होंने यह बात जाकर सुनील दत्त को कही कि बच्चन आंटी के सामने वह अमिताभ को तमाचा नहीं लगा पाएंगी. तब सुनील ने तेजी बच्चन को बाहर बैठने को कहा था. बाद में वहीदा ने अमिताभ को तमाचा लगाया तो वह सीन एक ही टेक में पूरा हुआ था. 

वहीं इसी शो के दौरान वहीदा और आशा ने यह भी राज खोला कि किस तरह पहले के दौर में जब वाशरूम नहीं हुआ करते थे तो उन लोगों को किन-किन परेशानी का सामना करना पड़ता था. आशा ने बताया कि एक बार सुबह घर से आने के बाद और घर जाने के बाद ही वाशरूम का इस्तेमाल कर पाती थीं. कई बार तो वे लोग दिन भर पानी नहीं पीती थीं. वहीदा ने बताया कि एक बार फिल्मालय में उन्होंने तय किया कि एक वाशरूम बनवाएंगी तो उन्होंने अपने पैसे भी दिए. वहां के मैनेजर ने उन्हें कहा कि बन जायेगा. अगली बार जब वहां फिर से गयीं तो वहां उन्होंने देखा कि एक टैंक रख दिया गया था, टॉयलेट बनाने की बजाय. तो वहीदा और आशा इस बात से खुश हैं कि आज के दौर में वैनिटी है और महिलाओं को इस तरह की परेशानी नहीं झेलनी पड़ती है.

Posted By: Rahul soni

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस