रुपेशकुमार गुप्ता, मुंबई। विवेक ओबरॉय ने कहा है कि देश में अब भी बेटियों की पढाई के नाम पर लोगों में जागरूकता नहीं आई है और माता- पिता बेटे के नाम पर बेटी की पढाई का मोलभाव तक करते हैं।

मुंबई में बुधवार को एक चैरिटी कार्यक्रम में आये विवेक ने कहा कि स्कूल में अपने घर की लड़कियां भेजने में आज भी कुछ् गांवों में भेदभाव होता है। विवेक कहते हैं " हमने एक गाँव में लडकियों के माता-पिता से बात की और कहा आपकी बेटी को स्कूल भेजिए, कोई खर्चा नहीं होगा। तब भी लोगों ने मना किया। जब हमने कहा अपने बेटियों को स्कूल भेजिए आपकी बेटियों को अच्छा खाना दिया जाएगा और देखभाल की जायेगी। इसपर उनके माता-पिता ने कहा आप बेटी को ले जाइए लेकिन तब जब आप हमारे बेटे को भी लेकर जायेंगे और उसका भी ख्याल रखेंगे। उस समय मुझे ऐसा लगा मानों डील हो रही है। " विवेक ने कहा कि इससे इस बात का पता चलता है कि गाँव में लडकियों की पढाई माता-पिता सोच में कितने पीछे है। कुछ गांव तो ऐसे भी हैं जहां की लड़कियों ने कभी स्कूल का मुंह तक नहीं देखा है। इस मौके पर हमें भारतीय होने पर गर्व होता है जब हम मेरा भारत महान, जय हिंद या भारत माता की जय जैसे नारों को एक्शन में बदल देते हैं।

यह भी पढ़ें:Teaser धनुष की नई फिल्म का, पर 37 सेकेंड में काजोल नहीं बन सकीं VIP 

विवेक ओबरॉय जल्द ही फिल्म बैंक चोर नाम की फिल्म में पुलिसवाले की भूमिका में नज़र आएंगे। इस फिल्म में रितेश देशमुख चोर बने हैं।

Posted By: Manoj Khadilkar