मुंबई। कुछ फिल्मों को बनाने में वक्त लगता है। करण जौहर के प्रोडक्शन हाउस तले बन रही फिल्म ब्रह्मास्त्र की पहली झलक और रिलीज तारीख सामने आ चुकी है। फिल्म बनने में करीब सात साल लगे हैं। फिल्म का निर्देशन अयान मुखर्जी ने किया है। फिल्म को बनने की इस देरी को लेकर करण जौहर ने क्या सीखा, इस पर एक इंटरव्यू के दौरान वह कहते हैं कि इस फिल्म से मैंने बहुत सारा वीएफएक्स (विजुअल इफेक्ट्स) सीखा है। इससे ज्यादा आप क्या सीख सकते हैं। आपको सच्चाई अपनानी पड़ती है कि अयान ने इस फिल्म पर सात साल तक हर दिन काम किया है। उन्होंने अपना खून-पसीना, आंसू सब इस फिल्म पर लगाया है। मैं उनका पैशन देख सकता हूं। उनके पास इस फिल्म में ऐसे एक्टर है, जिन्होंने अपना सब कुछ इस फिल्म पर लगाया है। मैं जब राजामौली सर से मिला था, तब उन्होंने बताया था कि राणा डग्गुबाती और प्रभास ने अपने पांच साल बाहुबली फिल्म को दिए थे। रणवीर कपूर और आलिया भट्ट ने अपने सात साल फिल्म पर लगाए हैं। शेड्यूल बदले, रिलीज तारीख बदली, आलिया इस फिल्म के साथ बड़ी हुई हैं।

View this post on Instagram

A post shared by Karan Johar (@karanjohar)

वह जब 21 साल की थीं, तब उन्होंने फिल्म साइन की थी। अब वह 28 साल की हैं। यह फिल्म किसी और कारण से लेट नहीं हो रही है। जो फिल्म को लेकर हमने सोच रखी है, उस विजन को फिल्म के तौर पर ढालने में वक्त लग रहा है। मुझे एक दिन का भी पछतावा नहीं हुआ है फिल्म को लेकर। फिल्म की कास्ट से लेकर असिस्टेंट डायरेक्टर्स तक हर कोई फिल्म के एक-एक फ्रेम को लेकर उत्सुक है। मैं नहीं जानता फिल्म का परिणाम क्या होगा। पैसे कमाने के लिए यह फिल्म नहीं बना रहा हूं। फिल्म पर बहुत पैसे लगे हैं। यह हम सब का पैशन प्रोजेक्ट है। ऐसे लोग जुड़े हैं, जो पैसे के लिए फिल्म नहीं बना रहे हैं। उन्हें फिल्म में यकीन है। शाह रुख खान ने फिल्म के लिए बहुत ही दमदार कैमियो किया है। हमें लगा था वह पांच दिन की शूटिंग करेंगे, लेकिन उन्होंने बिना कोई सवाल पूछे 15 दिनों की शूटिंग की है। दुनिया को यह फिल्म इसलिए नहीं देखना चाहिए कि हमने फिल्म पर पैसे लगाए हैं। बल्कि हमारे सात साल जो इस फिल्म पर लगे हैं, उस पैशन को देखने के लिए फिल्म देखना चाहिए।

चाणक्य को लेकर जारी अफवाहों पर स्पष्टीकरण देने की जरूरत नहीं: नीरज पांडे

अर्थशास्त्र के लेखक और महान रणनीतिकार चाणक्य के जीवन पर फिल्मकार नीरज पांडे बीते कई वर्षों से तैयारी कर रहे हैं। इस ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर आधारित फिल्म में अजय देवगन अहम भूमिका में होंगे। बीच में इस फिल्म से अजय के अलग होने की अफवाहें भी सामने आई थी। इसके बारे में दैनिक जागरण से बातचीत में नीरज कहते हैं ‘अफवाहों को हम क्यों तवज्जो दें, जो अफवाहें हैं उन्हें छोड़ देना ही बेहतर है। इस पर हमें कोई स्पष्टीकरण देने की जरूरत नहीं है। हम लोग अपना काम रहे हैं, जो होगा वो देखा जाएगा।’ इस फिल्म की मौजूदा तैयारियों पर नीरज कहते हैं, ‘जब हमने चाणक्य पर काम शुरू किया था, तो प्रयास यही था कि रिसर्च जितना ज्यादा मुकम्मल हो सके उतना ज्यादा करें। इसके लिए हमारी कोशिश ज्यादा से ज्यादा पढ़ने और उन लोगों से मिलने की थी, जो इस विषय के विशेषज्ञ हैं। उनके विचार और नजरिए को समझना जरूरी था। इन सारी चीजों को समझने और उनका अवलोकन करने के बाद ही हम स्क्रिप्टिंग की तरफ आगे बढ़े।’ चाणक्य के आधिकारिक ऐलान को लेकर नीरज कहते हैं कि अभी इसमें वक्त है। हम लोग फिलहाल देख रहे हैं कि इस साल हम कब इसे शुरू कर सकते हैं। इस फिल्म की पूरी तैयारियां हो चुकी हैं। चूंकि यह एक बड़ी फिल्म है, इसलिए हम नहीं चाहते कि एक बार इस पर काम शुरू होने के बाद कहीं अटके। जब हम यह सुनिश्चित कर लेंगे कि अब हम फिल्म को शुरू से लेकर अंत तक शूट कर सकते हैं, तभी इसकी शूटिंग शुरू करेंगे।

Edited By: Priti Kushwaha