रुपेशकुमार गुप्ता, मुंबई। अमिताभ बच्चन ने हिंदी फिल्मों में अपने 49 साल पूरे कर लिए हैं और हाल ही में उनकी फिल्म शहंशाह को 30 बरस हो गए । बच्चन ने इस फिल्म को याद करते हुए उस दौर की बातें बताई जब शहंशाह के रिलीज़ होने के चांस कम थे और उनकी विश्वसनीयता पर सवाल उठाए गए थे ।

चार दिन पहले बच्चन ने ट्विटर पर लिखा था - “शहंशाह को 30 साल हो गए। अद्भुत समय था वो। ऐसे समय आई जब इस फिल्म के रिलीज़ होने की बहुत ही कम उम्मीद थी। ऐसा इसलिए क्योंकि उस समय मेरी ‘क्रेडिबिलिटी’ पर हमला किया जा रहा था। लेकिन देश के लोग बेहतर जानते थे। फिल्म को बंपर ओपनिंग मिली और जबरदस्त सफलता। सबका धन्यवाद । बता दें कि टीनू आनंद के निर्देशन में बनी शहंशाह ने 1988 में छह करोड़ रूपये की कमाई की थी। इसी फिल्म से एक डायलॉग निकला था।“ रिश्ते में तो हम तुम्हारे बाप लगते हैं , नाम है शहंशाह”।

अमिताभ बच्चन ने आज ही सोशल मीडिया पर प्राण साहब के जन्मदिन के मौके पर अपनी पोस्ट में लिखा कि उन्हें भारतीय फिल्म इंडस्ट्री का लम्बी रेस का घोडा बताया था दिवंगत अभिनेता प्राण ने। प्राण ने फिल्म 'ज़ंजीर' के पहले शॉट को अमिताभ बच्चन के साथ पहले टेक में ओके करने के बाद फिल्म के निर्देशक प्रकाश मेहरा से कहा कि यह कोई साधारण लड़का नहीं है और यह भारतीय फिल्म इंडस्ट्री का एक नया अध्याय लिखेगा।

बच्चन ने लिखा “मुझे इस बात की कोई जानकारी नहीं थी लेकिन मैं उनकी सोच से न सिर्फ अभिभूत हुआ हूँ बल्कि मैं उससे ऋणी भी हो गया हूँ। बाद में प्राण ने एक और इंटरव्यू में अमिताभ बच्चन के बारे में कहा कि मुझे अगर भारतीय फिल्म इंडस्ट्री के बारे में कुछ भी पता है तो वह है अमिताभ। यह सिकंदर अंतिम सुपरस्टार है।

यह भी पढ़ें: Box Office पर इस हफ़्ते अय्यारी, पहले दिन इतने करोड़ कमाने की है तैयारी

By Manoj Khadilkar