मुंबई। उरी में हुए आंतकी हमले के खिलाफ इंडस्ट्री में जहां पाकिस्तानी कलाकारों को बैन करने के लिए आवाजें मुखर हो रही हैं, वहीं कुछ फिल्ममेकर्स इन आवाजों की आलोचना कर रहे हैं।

एमएनएस ने शुक्रवार को बलीवुड में काम कर रहे पाकिस्तान के कलाकारों को देश छोड़ने का अल्टीमेटम दिया था। पार्टी ने उन फिल्ममेकर्स को भी चेतावनी दी, जो अपनी फिल्मों में सरहद पार से आए कलाकारों को मौका दे रहे हैं। पार्टी के इस बयान पर फिल्ममेकर हंसल मेहता ने तंज कसा है। उन्होंने ट्वीटर पर लिखा है, कि एमएनएस ने एक मास्टर स्ट्रोक में इंडिया-पाकिस्तान की समस्या का हल कर दिया है। आखिरकार ये कलाकार ही तो हैं, जो हमलों को उकसा रहे हैं।

पाकिस्तानी कलाकारों को लेकर दो खेमों में बंटी इंडियन फिल्म इंडस्ट्री

वहीं फिल्ममेकर विक्रम भट्ट ने इस बात पर जोर दिया कि पाकिस्तान को आतंकी स्टेट घोषित किए जाने पर जोर देना चाहिए। विक्रम ने कहा, कि हमारा जोर इस बात पर होना चाहिए कि पाकिस्तान को आतंकी स्टेट घोषित करवाया जाए। कलाकारों या क्रिकेट को अनुमति ना देना मुद्दे को कमजोर करना है। अहम ये है कि लोग मर रहे हैं, हम लगातार पीड़ित हो रहे हैं... और हम केवल कलाकार को बैन कर रहे हैं।

Posted By: Manoj Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस