नई दिल्ली, जेएनएन। बॉलीवुड एक्टर विक्की कौशल इस वक्त बॉलीवुड के बेस्ट एक्टर में से एक हैं। ‘मसान’ से बतौर लीड एक्टर डेब्यू करने वाले विक्की आज बॉलीवुड को कई हिट फिल्में दे चुके हैं, लेकिन हर स्टार की तरह विक्की के लिए भी यहां तक पहुंचना आसान नहीं था। हज़ारों रिजेक्शन झेलकर आज विक्की ‘सरदार उधम’ बने हैं। हाल ही में एक्टर ने अपने स्ट्रग्ल के बारे में बताया है कि किस तरह उन्होंने हज़ारो ऑडिशन दिए थे जिनमें वो फेल हो जाते थे, लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी क्योंकि उनके पास प्लान B नहीं था।

जूम टीवी को दिए इंटरव्यू में विक्की ने कहा, ‘जब आप ऑडिशन देना शुरू करते हैं तब आपको समझ आता है कि आप कितने पानी में हैं। क्योंकि आप एक ही काम के लिए हज़ारों लोगों के साथ मुकाबला कर रहे होते हैं। आप जाते हैं और एक्टर्स की लंबी लाइन के बीच खड़े हो जाते हैं, और एक्टर्स भी वो जो अच्छे एक्टर्स हैं। आप उन लोगों के साथ कमरे में बैठे होते हैं जो आपसे कहीं ज्यादा बेहतर काम करते हैं। फिर यहीं आपको अपने जीवन के हर दिन के साथ आगे बढ़ते रहना होता है। तब तक, जब तक कि आपको वह नौकरी नहीं मिल जाती, आप उसमें अच्छा नहीं करते। उसके बाद आपका आत्मविश्वास बढ़ने लगता है’।

‘लोग जो महसूस नहीं कर पाते वो ये कि अगर मैं 10 ऑडिशन में पास हुआ हूं तो हज़ार में फेल भी हुआ हूं। मैं 1000 ऑडिशन में रिजेक्ट हुआ हूं और 10 में सलेक्ट हुआ हूं। लेकिन लोगों को सिर्फ 10 नज़र आता है। सबको लगता है अरे ये तो आसानी से मिल गया। लेकिन मेरे पास ऑप्शन नहीं था, कोई सेफ्टी नेट नहीं था अगर मैं गिरता तो सीधे ग्राउंड पर आ जाता। कई बार प्लान B होना आपको मज़बूती देता है’। विक्की के वर्क फ्रंट की बात करें तो हाल ही में एक्टर की फिल्म 'सरदार उधम' अमेज़न प्राइम पर रिलीज़ हुई है।

Edited By: Nazneen Ahmed