मुंबई। केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने 1952 के सिनेमेटोग्राफी एक्ट में बदलाव करते हुये पाइरेसी के ख़िलाफ़ सख्त कदम उठाये हैं और इससे अब सिनेमाघर में मोबाइल से पिक्चर रिकार्ड करने वालों की खैर नहीं l प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने इसके लिए सरकार का धन्यवाद देते हुए प्रधानमंत्री के साथ फिल्म वालों की हुई बैठक को सार्थक बताया है l 

अब अगर कोई सिनेमाघर में कोई मोबाइल से फिल्म रिकार्ड करेगा तो उसे तीन साल की जेल या 10 लाख रूपये तक का जुर्माना या दोनों भरना पड़ सकता है l इस बावत गिल्ड ने एक बयान जारी किया है ,जिसे आप यहाँ पढ़ सकते हैं - 

पिछले दिनों वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने संसद में बजट 2019-20 पेश किया जिसमें भारतीय फिल्म इंडस्ट्री को रोजगार देने वाले प्रमुख उद्योगों में से एक माना। उन्होंने जिसके चलते फिल्म इंडस्ट्री के लिए दो बड़ी घोषणाएं की।

पहली घोषणा के अंतर्गत भारत में फिल्म शूट करने वाले सभी निर्देशकों को सिंगल विंडो क्लीयरेंस देने की घोषणा की। यही नहीं एंटरटेनमेंट सेक्टर को बड़ी राहत देते हुए जीएसटी को 12 प्रतिशत करने की घोषणा की गई । गौरतलब है कि इससे पहले सिंगल विंडो क्लीयरेंस मात्र विदेशी फिल्म निर्देशकों को मिलता था लेकिन अब भारत के किसी भी भाषा में फिल्म शूट करने वाले निर्देशकों को इसका लाभ मिलेगा और उन्हें लाल फीताशाही से छुटकारा मिलेगा। साथ ही इसके चलते भ्रष्टाचार पर भी नकेल कसी जा सकेगी। वहीं दूसरी घोषणा के अंतर्गत उन्होंने सिनेमेटोग्राफी एक्ट को सख्त करने की बात कही। जिसके अंतर्गत पायरेसी को रोका जायेगा। ताकि जो लोग फिल्मों के माध्यम से पैसा कमाना चाहते हैं। उनके आमदनी पर सेंध न लग सके।

इस बीच प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया के अध्यक्ष और जाने माने निर्माता सिद्धार्थ रॉय कपूर ने बजट में फिल्म उद्योग के लिए उठाये गए कदम की सराहना की है। उन्होंने इंडियन सिनेमा के लिए सिंगल विंडो सिस्टम लागू किये जाये को सराहनीय फैसला बताया है । साथ ही सिनेमाघरों में मोबाइल से फिल्म को रिकॉर्ड किये जाने पर सख्त क़ानून बनाने जाने से पाइरेसी को रोकने में मदद मिलेगी । उनका ये बयान यहां पढ़ सकते हैं -

इस मौके पर बजट प्रस्तुत कर रहे पीयूष गोयल ने फिल्म उरी द सर्जिकल स्ट्राइक देखने की भी बात कही। जिसके बाद संसद में जोर जोर से तालियां बजीं । गौरतलब है कि भारतीय फिल्म इंडस्ट्री एक लंबे समय से सरकार से मांग कर रही थी कि वह फिल्मों की शूटिंग के लिए सिंगल विंडो क्लीयरेंस दे और बड़े पैमाने पर हो रही पायरेसी को रोकने के लिए कड़े कदम उठाए। हाल ही में बॉलीवुड के कलाकार निर्माता-निर्देशक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दिल्ली जाकर भेंट भी की थी। एंटरटेनमेंट या सिनेमा को बड़ी राहत देते हुए इसे12 % GST पर लाया गया है।

यह भी पढ़ें: Box Office पर कंगना की मणिकर्णिका का शानदार हफ़्ता पूरा, इतने करोड़ तक पहुंची

Posted By: Manoj Khadilkar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप